पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वरोजगार को बढ़ावा:स्टार्टअप शुरू करने में जेयू करेगी मदद, फंडिंग के तरीके भी बताएगी

ग्वालियर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए जीवाजी यूनिवर्सिटी मदद करेगी। कोविड-19 के कारण जब क्लास बंद हैं, तब संस्थान की ओर से यह पहल की गई है। संस्थान का उद्देश्य आपदा के समय अवसर तलाशना है। इसकी वजह है कि अधिकांश कंपनियों में जॉब का संकट हो गया है। कैंपस प्लेसमेंट में भी कंपनियां दिलचस्पी कम दिखा रही हैं।

संस्थान विद्यार्थियों को स्वरोजगार जोड़ने के लिए यह सुविधा शुरू की है। इसमें जेयू स्टार्टअप को लेकर आइडिया मांगेगा। यह सुविधा ऑनलाइन रहेगी। इससे छात्र अपने पसंदीदा आइडिया को एक्सपर्ट से साझा कर सकेंगे। साथ ही एक्सपर्ट उन्हें संबंधित आइडिया पर काम करने के तरीके बताएंगे। इसमें जिन विद्यार्थियों के आइडिया का चयन होगा, उनका एक समूह तैयार किया जाएगा।
ऐसे होगा प्रतिभागियों का चयन
जिस आइडिया पर विद्यार्थी स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं पहले उन्हें इसका एक प्रोजेक्ट बनाकर यूनिवर्सिटी को सौंपना होगा। इसके बाद एक प्रजेंटेशन लिया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी बनाई गई है। यह कमेटी स्टार्टअप आइडिया और उनका प्रोजेक्ट आगे कितना प्रोग्रोस कर पाएगा इस आधार पर चयन करेगी। इसमें चयनित होने वाले विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी की ओर से सुविधाएं दी जाएंगी।

संस्थान प्रशिक्षण देने के साथ 50 हजार रुपए भी देगा

  • स्टार्टअप आइडिया की प्रक्रिया के पहले चरण में 15 प्रतिभागियों का चयन किया जाएगा। इन सभी प्रतिभागियों को 50-50 हजार रुपए की फंडिंग की जाएगी।
  • कमेटी द्वारा चयनित होने वाले बेहतर आइडिया को स्टार्टअप में किस प्रकार बदला जा सकता है, इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • चयनित होने वाले प्रतिभागियों को अलग-अलग र्स्टाटअप को लेकर प्रतिभागियों को फ्री कंसल्टेंसी और गाइडेंस प्रदान किया जाएगा।
  • कोरोना महामारी को देखते हुए फिलहाल यह सुविधा ऑनलाइन रहेगी। इसमेंे यूनिवर्सिटी की फैकल्टी सोशल मीडिया और टेलीफोनिक गाइडेंस में मदद करेगी।
  • चयनित प्रतिभागियों को सरकारी और प्राइवेट सेक्टर से फंडिंग प्राप्त करने के तरीके भी सिखाए जाएंगे। इसके लिए उन्हें प्रोजेक्ट किस प्रकार बनाना है, इसका भी प्रशिक्षण संस्थान की ओर से दिया जाएगा।

उद्यमिता प्रकोष्ठ के विशेषज्ञ करेंगे मार्गदर्शन
अधिकांश स्टार्टअप के मामलों में देखने में आया है कि वह कुछ समय बाद असफल हो जाते हैं। इसे देखते हुए जेयू के उद्यमिता प्रकोष्ठ की ओर से विद्यार्थियों को सही मार्गदर्शन देने के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम का अायोजन किया जाएगा। यह ट्रेनिंग प्रोग्राम प्रोजेक्ट के मुताबिक रहेगी। यह प्रशिक्षण तीन से लेकर छह माह की अवधि का रहेगा। जेयू से हर साल पास होने वाले विद्यार्थियोें मेें से 40% विद्यार्थियों का चयन अलग-अलग कंपनियों में हो जाता है, लेकिन 60% ऐसे भी विद्यार्थी होते हैं, जिनको जॉब नहीं मिल पाता है। ऐसे में इन विद्यार्थियों की स्वरोजगार से जोड़ने के लिए यह पहल की गई है।

2 साल तक स्टार्टअप के लिए नि:शुल्क दी जाएगी सुविधा
छात्र जिस डिपार्टमेंट में पढ़ते हैं, पढ़ाई पूरी हो जाने के बाद वे अपने स्टार्टअप आइडिया को अपने एचओडी से शेयर कर सकते है। जिससे उन्हें दो से तीन साल तक के लिए उस विभाग के इंस्ट्रूमेंट और मशीनरी का उपयोग करने की सुविधा मिलेगी। विद्यार्थियों के लिए यह सुविधा नि:शुल्क रहेगी। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
- डॉ. जीबीके प्रसाद, एचओडी होटल मैनेजमेंट विभाग, जेयू

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें