पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जीवाजी यूनिवर्सिटी:जेयू के 8 विभागों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने का रास्ता साफ

ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्यपरिषद की बैठक में प्रो. होलानी को रेक्टर बनाया

जीवाजी यूनिवर्सिटी के 8 विभागों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने का रास्ता साफ हो गया है। जेयू अभी अपने फंड से उपकरण खरीदेगा, इसके बाद शासन जेयू को भुगतान करेगा। इसे लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने पत्र भेजा है। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने के लिए 16 करोड़ का अनुदान मिला था।

इसमें से 12 करोड़ के उपकरण खरीदे जाना है। शुक्रवार को कार्यपरिषद की बैठक में सदस्य मुनेंद्र सोलंकी व अनूप अग्रवाल ने आपत्ति दर्ज कराई और असहमति पत्र भी दिया। उनका कहना था कि उच्च शिक्षा विभाग से फंड आने से पहले खरीदारी वित्त संहिता के खिलाफ है।

दोनों ने नर्सिंग रिजल्ट में गड़बड़ी के मामले में सही जांच न होने और जांच रिपोर्ट को बैठक में न रखे जाने तथा पूरक एजेंडा पहले से सदस्यों के पास न भेजे जाने पर भी आपत्ति जताई। बैठक में प्रो. उमेश होलानी को रेक्टर बनाने पर सहमति बनी। मौजूद रेक्टर प्रो. डीडी अग्रवाल 31 जनवरी को सेवानिवृत्त होंगे।

बैठक में यह भी हुए निर्णय

  • जेयू में 8 विभागों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाना है। इसके लिए उपकरण तथा अन्य सामान काे विवि मद से क्रय कर उसकी प्रतिपूर्ति शासन द्वारा की जाएगी। इन निर्देशों का पालन करते हुए क्रय प्रक्रिया जारी रखने की अनुशंसा की गई।
  • विवि पेंशनर्स को शासकीय पेंशनर्स के समान सुविधाएं देने वाला प्रस्ताव समन्वय समिति को भेजने की बात हुई।
  • कार्यपरिषद की बैठकों की रिकाॅर्डिंग कराकर कुलपति और कुलसचिव कार्यालय में सुरक्षित रखने पर सहमति बनी।
  • जेयू के वाणिज्य व प्रबंध विभाग की बाउंड्रीवाॅल के लिए स्वीकृति प्रदान की गई।
  • जूलाॅजी विभाग में आईसीएमआर द्वारा स्वीकृत प्रोजेक्ट में उपकरण खरीदने के लिए वित्तीय स्वीकृति दी गई।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें