• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Khurdburd Made Forged Documents On GDA Plot Of Missing Youth Since 2005, FIR On 5 Including National Convenor Of NSUI, One Arrested

ग्वालियर में NSUI नेता धोखाधड़ी में गिरफ्तार...:2005 से लापता युवक के GDA के प्लॉट पर जाली दस्तावेज बनाकर किया खुर्दबुर्द, NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सहित 5 पर हुई FIR, एक गिरफ्तार

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एनएसयूआई नेता सचिन द्विवेदी को पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है - Dainik Bhaskar
एनएसयूआई नेता सचिन द्विवेदी को पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है
  • - पड़ाव थाना पुलिस ने किया मामला दर्ज और की गिरफ्तारी

ग्वालियर में NSUI नेता व राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी को पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए NSUI नेता पर आरोप है कि उन्होंने साल 2018 में फर्जी दस्तावेज तैयार कर GDA की जमीन का क्रय-विक्रय किया था। इस कूट रचना में NSUI नेता सहित 5 लोगों के नाम हैं। जिसके भूखंड को अपने नाम बताया गया वह वर्ष 2005 से लापता हैं। जिसकी शिकायत ग्वालियर विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी द्वारा पड़ाव थाना में की गई थी। इस मामले में जांच के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। इस मामले में NSUI नेता को पुलिस ने पकड़ा है।
यह है पूरा मामला
शहर के पड़ाव थाना पुलिस ने दर्पण कॉलोनी निवासी NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी को धोखाधड़ी के मामले में मामला दर्ज करने के बाद गिरफ्तार किया है। ग्वालियर विकास प्राधिकरण के 2018 में दर्पण कॉलोनी स्थित एक भूखंड का फर्जी दस्तावेज तैयार कर उसे क्रय और विक्रय किया गया था। यह भूखंड किसी राजेन्द्र जैन के नाम पर GDA में आवंटित था। राजेन्द्र जैन वर्ष 2005 से लापता हैं। उनके बच्चों ने जब इस भूखंड को अपने नाम कराने के लिए आवेदन किया तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। इस भूखंड को NSUI नेता सचिन, उनके साथी लक्षमण तलैया निवासी आशीष पुत्र रमेशचन्द्र तिवारी, रामदुलारे कटारे निवासी भिंड, शिवपाल सिंह, शिंदे की छावनी निवासी अनीता पत्नी शरद खानवलकर के साथ मिलकर क्रय विक्रय किया था। जिसका पता चलने पर ग्वालियर विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी ने थाने में शिकायत की थी। जिस पर पुलिस ने फर्जीवाड़े का मामला दर्ज कर सचिन द्विवेदी सहित पांच लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की थी। जांच पड़ताल में यहां सत्य पाया गया कि फर्जी दस्तावेज तैयार कर जीडीए जमीन को बेचा गया है। तभी पुलिस ने सोमवार को NSUI के राष्ट्रीय संयोजक के उनके घर से हिरासत में लिया है। जहां पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।
सिंधिया को दिए थे बेशर्म के फूल
- NSUI नेता सचिन वही हैं जिन्होंने कुछ समय पहले केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के ग्वालियर से दिल्ली जाते समय गोला का मंदिर पर सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए बेशर्म के फूल भेंट किए थे। जिस पर इनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और अर्रेस्ट भी किया गया था।
पुलिस का कहना
- इस मामले में CSP नागेंद्र सिंह सिकरवार का कहना है कि NSUI के राष्ट्रीय संयोजक नेता को पुलिस ने हिरासत में लिया है। नेता पर आरोप था कि उसके द्वारा 2018 में फर्जी दस्तावेज तैयार कर GDA की जमीन का क्रय विक्रय किया था। जिसकी शिकायत 2018 में ग्वालियर विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी द्वारा की गई थी।

खबरें और भी हैं...