आधार सीड होने से पता चली लोकेशन:वैक्सीन के अलर्ट मैसेज से 2 साल बाद 6 माह के बेटे संग मिली अपहृत किशोरी

ग्वालियर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए मोबाइल पर आए अलर्ट मैसेज ने दो साल पहले मुरार से गायब हुई किशोरी के अपहरण केस का खुलासा कर दिया। अलर्ट मैसेज के आधार पर पड़ताल में लगी पुलिस ने किशोरी (जो अब बालिग है) को छह महीने के बच्चे के साथ बरामद कर लिया। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश किया। न्यायालय में युवती ने कहा कि बालिग होने के बाद मैंने अपनी मर्जी से युवक से शादी कर ली है। मेरा छह माह का बच्चा भी है और अब मैं अपने पति के साथ रहना चाहती हूं। इस पर कोर्ट ने उसे इजाजत दे दी।

थाना प्रभारी शैलेंद्र भार्गव के मुताबिक दो वर्ष पूर्व अपह्त किशोरी के पिता ने गत दिवस उन्हें सूचना दी कि उनके पास बेटी को कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने का मैसेज आया है। दरअसल, युवती ने आधार कार्ड से वैक्सीन का पहला डोज लगवाया था। आधार कार्ड पर उसके पिता का मोबाइल नंबर दर्ज था। इसलिए दूसरे डोज का मैसेज पिता के मोबाइल पर आया। इस मैसेज की पड़ताल कर पुलिस ने अस्पताल का रजिस्टर खुलवाया तो उसमें वैक्सीन लगवाने वाली किशोरी का पता गोहद जिला भिंड का मिला।

मजदूरी करते हुए हुआ था युवक से प्यार
युवती ने पुलिस को बताया कि मजदूरी करने के दौरान मेरी युवक से मुलाकात हुई थी। परिजन को इसकी जानकारी नहीं थी। कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने युवती व बच्चे को उसके पति के सुपुर्द कर दिया।

खबरें और भी हैं...