ससुराल के सामने कुएं में मिला शव...:काफी समय पहले छोड़ गया था घर, पांच दिन पहले पत्नी, बच्चों से मिलने आया था

ग्वालियर2 महीने पहले
  • संजय नगर जनकगंज मूलादास की खो की घटना

ग्वालियर के संजय नगर के पास मुलादास की खो इलाके के कुएं में एक साधु की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद लाश को कुएं से बाहर निकलवाया। इस मृतक की पहचान रामजी बाबा उर्फ मलखान बाल्मीकि के रूप में हुई है। कुएं के सामने ही उसकी ससुराल है। कई साल पहले वह अपने पत्नी-बच्चों को छोड़कर चला गया था,, लेकिन पांच दिन पहले ही वह वापस मिलने आया था। अब पुलिस जांच कर रही है कि रामजी बाबा इस सूखे कुएं में खुद गिरे या वह किसी साजिश का शिकार हुए हैं। फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है।

यह है पूरा मामला

जनकगंज पुलिस को सूचना मिली थी कि मूलादास की खो स्थित एक सूखे कुएं में किसी महिला की लाश पड़ी हुई है। महिला की लाश होने की सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंच गई। लेकिन जब लाश को बाहर निकलवाया गया तो वह साधु की निकली। वह धोती बांधे हुए था इसीलिए लोगों को लगा कि किसी महिला का शव है।शव की शिनाख्त भी तुरंत ही हो गई। पता चला है कि मृतक साधु रामजी बाबा उर्फ मलखान बाल्मीकि (52) है। वह गांजा और शराब पीने का आदी था। बताया जा रहा है कि मृतक साधु ने कई साल पहले ही अपने बेटे और पत्नी को छोड़ दिया था। मृतक साधु की मौत के कारणों का फ़िलहाल पता नहीं चला है पुलिस का कहना है कि इस मामले की जांच की जा रही है जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

बेटे ने बताया कई साल पहले छोड़ कर चले गए थे।

मृतक साधु के बेटे किशन बाल्मीकि का कहना है कि उसके पिता कई साल पहले उसकी मां और उसे छोड़ कर चले गए थे। 5 दिन पहले उसके पिता उनसे मिलने उनके घर आए थे। तब से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई थी कुछ देर पहले ही उसके मामा ने फोन लाकर बताया था कि उसके पिता का शव कुएं में पड़ा हुआ मिला है।

पीएम रिपोर्ट आने पर होगी अग्रिम कार्रवाई

प्रभारी सीएसपी लश्कर सर्कल मुनीष राजोरिया ने बताया है कि सूचना मिली थी कि मुलादास की खो में एक व्यक्ति का शव पड़ा है। मौके पर पहुंचकर दमकल हमले को बुलाया गया था। मृतक के शव को कुएं से बाहर निकलवाया गया है। मृतक की पहचान हो गई है। फिलहाल यह पता नहीं चल सका है। कि उसकी मौत किन कारणों के चलते हुई है। मृतक बाबा के शव को पीएम के लिए भेज दिया है। पीएम रिपोर्ट में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।