पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फैसला:मैरिज गार्डन एसोसिएशन कल निकालेगा मार्च, बुकिंग का पैसा नहीं लौटाएंगे

ग्वालियर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिस्टम से नाराज सदस्यों ने विवाद व्यवसाय संघर्ष समिति गठित की, घरों में होने वाले आयोजन में नहीं देंगे सेवाएं

बढ़ते कोरोना संक्रमण ने शादी वाले घरों की परेशानी और बढ़ा दी है। प्रशासन 50 मेहमानों की संख्या बढ़ाने की स्थिति में नहीं है। दूसरी तरफ मैरिज गार्डन में इतने कम मेहमानों के साथ शादी करने लोग तैयार नही हैं। ऐसी स्थिति में मैरिज गार्डन, लाइट, टेंट, हलवाई सभी को धंधा खत्म होने की चिंता सताने लगी है।

इसी कारण मंगलवार को सभी ने संयुक्त रूप से बैठक की। इसमें तय हुआ कि यदि गार्डन के एरिया के हिसाब से मेहमानों की संख्या तय नहीं की गई तो सभी 8 अप्रैल को विरोध स्वरूप सभी परिवार के साथ अचलेश्वर मंदिर से दोपहर 3 बजे पैदल मार्च निकालेंगे। बैठक में सिस्टम से नाराज सदस्यों ने विवाद व्यवसाय संघर्ष समिति गठित की। इसके बाद उन्होंने कहा कि 8 अप्रैल का पैदल मार्च बाड़े पहुंचेगा और यहां से वाहनों से कलेक्टोरेट पहुंचकर ज्ञापन सौंपेगा। इसके अलावा जो लोग गार्डन बुक करा चुके हैं और मेहमान कम होने के कारण बुकिंग रद्द करा रहे हैं, ऐसे लोगों को जमा पैसा वापस नहीं किया जाएगा।

बैठक में यह भी तय हुआ कि यदि कोई परिवार कम मेहमानों के साथ शादी या अन्य आयोजन घर, आसपास के खुले मैदान या फिर कहीं और से करेगा तो लाइट. टेंट, हलवाई, केटर्स, क्राकरी व्यवसायी उनके घर पर सुविधाएं मुहैया नहीं कराएंगे। करीब 120 बिजली ठेकेदारों से जुड़े संगठन के अध्यक्ष कैलाश अग्रवाल व टेंट यूनियन के सचिव बबलू गोयल ने कहा कि उनके संगठन के एक हजार सदस्य मैरिज गार्डन के अलावा कहीं और टेंट, कुर्सी-टेबल की सुविधाएं शादी वाले घरों में मुहैया नही कराएंगे।
मंजूरी बंद पर हो रहे हैं कार्यक्रम

कुछ दिन पहले कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने मैरिज गार्डन को खुला स्थान मानकर 100 से अधिक मेहमानों के आयोजन पर मंजूरी लेने को कहा था। यह निर्णय वापस लेकर किसी तरह की मंजूरी नहीं देने पर सहमति बनी है।
क्षेत्रफल के हिसाब से मिले छूट

मप्र चेंबर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान शादी में मेहमानों की लिमिट को लेकर मुख्यमंत्री से चर्चा की। उन्होंने कहा कि 50 की संख्या कम है। इससे कई लोगों का रोजगार छिन जाएगा। इसलिए मैरिज गार्डन के क्षेत्रफल के हिसाब से क्षमता का 50 फीसदी तक मेहमान बुलाने की छूट दी जानी चाहिए। यही मांग कैट ने रखी।
संघर्ष समिति का गठन किया

  • मंगलवार को संयुक्त बैठक हुई। इसमें विवाह व्यवसाय संघर्ष समिति का गठन किया गया। जो लोग शादी के लिए बुकिंग करा चुके हैंं और कार्यक्रम नहीं करेंगे, ऐसे लोगों की बुकिंग का पैसा वापस नहीं करेंगे। - रामकुमार सिकरवार, सचिव वृहत्तर मैरिज हाउस यूनियन

हमारा कारोबार ठप हो जाएगा

  • प्रशासन यदि मैरिज गार्डन में मेहमानों की संख्या को लेकर पुनर्विचार नहीं करता है तो ऐसी स्थिति में हमारा कारोबार ठप हो जाएगा। तब हमारे पास काम बंद करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं रहेगा। ऐसी स्थिति में 900 से ज्यादा हलवाई घरों में होने वाले आयोजन में भी अपनी सेवाएं नहीं देंगे। - राजेंद्र गुप्ता, अध्यक्ष केटर्स-हलवाई यूनियन
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज का दिन मित्रों तथा परिवार के साथ मौज मस्ती में व्यतीत होगा। साथ ही लाभदायक संपर्क भी स्थापित होंगे। घर के नवीनीकरण संबंधी योजनाएं भी बनेंगी। आप पूरे मनोयोग द्वारा घर के सभी सदस्यों की जरूर...

    और पढ़ें