27 दिन बाद IES अफसर ने दम तोड़ा:ग्वालियर में हादसे के बाद मां और दो भाइयों की पहले हो चुकी मौत, दिल्ली में भर्ती थे

ग्वालियर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर में भोपाल से लौटते वक्त कार दुर्घटना में घायल IES अफसर मनोज सिंघल ने 27 दिन बाद बुधवार को दम तोड़ दिया। दिल्ली के अस्पताल में भर्ती मनोज की इलाज के दौरान मौत हो गई। हादसे में मनोज के बड़े भाई, फुफेरे भाई और मां की पहले ही घटनास्थल पर मौत हो गई थी। पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिवार वालों को सौंप दिया गया।

2 जून 2022 को मनोज कार से परिवार के साथ भोपाल से ग्वालियर आ रहे थे। इसी दौरान घाटीगांव थाना क्षेत्र के सिरसा गांव हाईवे के पास ट्रक ने कार काे टक्कर मार दी थी। हादसे में विद्या देवी सिंघल, भगवती प्रसाद और अशोक बंसल की मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं, मनोज गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें सिर में गंभीर चोट आई थी। उन्हें पहले ग्वालियर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में दिल्ली के निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया। 27 दिन तक मनोज जिंदगी और मौत से जूझते रहे। बुधवार को उन्होंने भी दम तोड़ दिया।

भोपाल के दूरसंचार विभाग में थे मनोज

मनोज सिंघल आईईएस अफसर थे। भोपाल के दूरसंचार विभाग में पदस्थ थे। बड़े भाई भगवती और फुफेरा भाई अशोक बंसल ठेकेदार थे। वह किसी काम से 1 जून को अपनी मां विद्या देवी सिंघल, भाई भगवती, फुफेरे अशोक के साथ कार से गए थे। दूसरे दिन 2 जून को वह लौट रहे थे, तभी हादसा हो गया।

ग्वालियर में बिल्डर समेत तीन की मौत:भोपाल से लौटते समय खड़े ट्रक में घुसी कार, BSNL का अफसर गंभीर