अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई:यूपी के जालौन में एनसीबी ने पकड़ी 9 करोड़ की हेरोइन, 2 तस्कर गिरफ्तार

ग्वालियर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए तस्करों में एक राजस्थान का व दूसरा मंदसौर का है। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए तस्करों में एक राजस्थान का व दूसरा मंदसौर का है।

केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो (एनसीबी) की ग्वालियर की टीम ने जालौन (उत्तर प्रदेश) के आटा थाना क्षेत्र में 9 किलो हेरोइन पकड़ी है। हेरोइन के साथ ही 2 तस्कर भी गिरफ्तार किए गए हैं। तस्कर हेरोइन को ट्रक की स्टेपनी में छिपाकर ला रहे थे। हेरोइन को 500-500 ग्राम के 18 पैकेट बनाकर स्टेपनी में रखा गया था। पकड़े गए तस्करों में एक राजस्थान का व दूसरा मंदसौर का है।

नारकोटिक्स अधिकारी पकड़े गए तस्करों से पूछताछ कर रहे हैं। बरामद हेरोइन की कीमत 9 करोड़ रुपए बताई गई है। ग्वालियर नारकोटिक्स ब्यूरो की अबतक की यह सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है। तस्करों को 3 दिन की रिमांड पर नारकोटिक्स को दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर में पुलिस द्वारा विगत डेढ़ माह से चलाए जा रहे नशा विरोधी अभियान में पकड़े गए तस्करों में से लगभग सभी ने स्मैक उरई-जालौन क्षेत्र से लाने और इसमें तीन परिवार के नाम बताए थे। इस संबंध में दैनिक भास्कर ने उरई-जालौन क्षेत्र में नशा तस्करों पर एनसीबी द्वारा कार्रवाई की व्यूह रचना बनाए जाने का खुलासा किया था।

भिंड: तस्कर ने घर में छिपा रखा था 1 करोड़ रुपए का गांजा, पकड़ा

भिंड पुलिस के हत्थे गांजा का एक बड़ा तस्कर लगा है। इसके घर से करीब एक क्विंटल गांजा मिला है। इसकी अंतराष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ रुपए से अधिक कीमत बताई जा रही है। पुलिस को सूचना मिली थी कि एक युवक बिरखड़ी गांव के बाहर काफी मात्रा में गांजा लेकर कहीं बेचने जा रहा है।

पुलिस ने घेराबंदी की और बिरखड़ी निवासी युवक शिवम (20) पुत्र सतीश भारद्वाज को पकड़ लिया। उसके कब्जे से 10 किलो गांजा मिला। पुलिस ने जब शिवम के घर की तलाशी ली तो वहां करीब 90 किलो गांजा और मिला जो बोरियों में भरा था।