दंपति का दर्द.. / सात दिन से न डाॅक्टर चेकअप करने आए, न ही हमारे बच्चों के सैंपल लिए

X

  • बिड़ला अस्पताल में एक सप्ताह में 27 कोरोना संक्रमित किए भर्ती

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:07 AM IST

ग्वालियर. शहर में काेराेना से संक्रमित मरीजाें का इलाज सुपर स्पेशलिटी के साथ बिड़ला अस्पताल में भी किया जा रहा ह्रै। पिछले सात दिन में यहां 27 संक्रमिताें काे भर्ती किया गया है। इन मरीजाें के इलाज के एवज में अस्पताल प्रबंधन को अायुष्मान भारत याेजना के तहत भुगतान किया जाएगा, लेकिन यहां इलाज के नाम पर सिर्फ औपचारिकता की जा रही है। यहां भर्ती ज्यादातर मरीज बिना लक्षण वाले हैं, लेकिन उन्हें किसी भी प्रकार की दवा नहीं दी जा रही है। कुछ मरीजों को तो बिरला अस्पताल में भर्ती हुई 6 दिन से ज्यादा समय हो गया है, लेकिन एक बार भी डाॅक्टर उनका चेकअप करने नहीं पहुंचे। जबकि इसी प्रकार के मरीज सुपरस्पेशलिटी हास्पिटल में भी भर्ती हैं, लेकिन वहां नियमित मरीजों की सामान्य जांचें की जाती हैं। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें विटामिन-सी की गोलियां भी दी जा रही हैं। 
   इलाज में लापरवाही के साथ ही यहां भर्ती मरीज के बच्चों की सैंपलिंग के मामले में स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की लापरवाही सामने आई है। जिन दो बच्चों के माता-पिता संक्रमित हैं। उनके बेटी और बेटे के सात दिन बाद भी सैंपल नहीं लिए गए। जबकि वह दोनों अस्पताल में मां के साथ रह रहे हैं। 

डायरेक्टर बाेले- 24 घंटे मौजूद रहते हैं डाॅक्टर
-डाॅ. एसएल देसाई, डायरेक्टर, बीआईएमआर के मुताबिक, हमारे हाॅस्पिटल में मरीजों की देखभाल के लिए 24 घंटे डाक्टर उपलब्ध रहते हैं। चूंकि सभी मरीजों में बीमारी के लक्षण नहीं है इसलिए दिन में एक बार ही चेकअप किया जा रहा है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए मल्टीविटामिन टैबलेट भी दी जा रही हैं। किस मरीज के सैंपल कराने हैं, किस के नहीं, इसके संबंध में निर्णय स्वास्थ्य विभाग द्वारा लिया जाता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना