• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Neither The Severity Of The Masks And The Distance In The Markets, Nor The Investigation Of Those Coming From Outside

कोरोना को आमंत्रण:न बाजारों में मास्क और दूरी को लेकर गंभीरता, न बाहर से आने वालों की जांच

ग्वालियर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्टेशन पर पुलिस के सामने से बिना जांच निकल रहे यात्री। - Dainik Bhaskar
स्टेशन पर पुलिस के सामने से बिना जांच निकल रहे यात्री।
  • 4 दिन में 34 नए मरीज, फिर भी ये हाल

ग्वालियर में पिछले 4 दिन में 34 लाेग काेराेना संक्रमित पाए गए हैं। पिछले 24 घंटे में छह नए संक्रमित मिले। इससे साफ है कि प्रदेश और देश की तरह शहर में भी संक्रमण धीरे-धीरे फिर से पैर पसार रहा है। इसके बाद भी प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग लापरवाह बने हुए हैं।

न तो बाजारों में गाइड लाइन का पालन किया जा रहा है और न ही भोपाल, इंदौर एवं अन्य शहरों से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। बस अड्डे और रेलवे स्टेशन पर इसे लेकर कोई व्यवस्था ही नहीं बनाई गई है। यहा बता दें कि भोपाल और इंदौर के बाद प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले ग्वालियर में ही हैं।
प्लानिंग पर अमल नहीं

  • कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने आदेश जारी किए थे कि प्रमुख बाजार, चौराहों पर बिना मास्क और शारीरिक दूरी का उल्लंघन करने वालों के चालान काटे जाएं। शनिवार को पुलिस गायब थी।
  • एसपी ने सभी सीएसपी को जिम्मेदारी दी थी कि उनके नेतृत्व में एक टीम निकलेगी। दो दिन ये टीम निकली, इसके बाद कार्रवाई बंद हो गई।

स्टेशन; आने वालाें की जांच तक नहीं
रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से आने वाले लाेगों की थर्मल स्क्रीनिंग नहीं की जा रही है, लेकिन ट्रेन में सवार होने यात्रियों की जांच हो रही है। जबकि पिछले कुछ दिन में बाहर से आए 45 प्रतिशत संक्रमित ट्रेन या सड़क मार्ग से ग्वालियर लौटे थे।
एटीएम.. सेनिटाइजर उपलब्ध नहीं
शहर के एटीएम में हर रोज सैकड़ों की संख्या में लोग जाते हैं। अधिकांश एटीएम में सेनिटाइजर का प्रबंध नहीं है। जहां सेनिटाइजर की बॉटल रखी है, उसमें सेनिटाइजर नहीं है। एजी ऑफिस के बाहर स्थित एटीएम में बैठे गार्ड ने बताया कि सेनिटाइजर कुछ दिन पहले खत्म हो गया था। जल्द ही इसे भर दिया जाएगा।

बाजारों में गाइड लाइन का पालन नहीं

  • सुभाष मार्केट: शाम 7.14 बजे यहां ज्यादातर दुकानदार बिना मास्क के बैठे थे। बाजार में अधिकांश लोग बिना मास्क पहने घूम रहे थे। दुकानदारों ने सेनिटाइजर तक नहीं रखा था। यहां शारीरिक दूरी का उल्लंघन हो रहा था और पुलिस मौजूद नहीं थी। नजरबाग मार्केट में भी अधिकांश दुकानदार और खरीदार बिना मास्क के दिखे।
  • फूलबाग चौपाटी: शाम 6.30 बजे यहां अधिकांश लोग बिना मास्क के थे। बाहर भीड़ लगी थी। चौपाटी में फूड स्टॉल पर कुर्सिंयां सटकर लगी थीं। कहीं भी शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा था। यहां से पुलिस गायब रही।
  • महाराज बाड़ा: छापेखाने से लेकर माधौगंज चौराहे तक अधिकांश दुकानों पर दुकानदार भी मास्क नहीं लगाए थे। चाट के ठेले, कपड़े की दुकान, किराने की दुकानों पर भीड़ लगी थी।

रिजर्वेशन काउंटर, भीड़ में लोग भूले सोशल डिस्टेंसिंग
कंपू स्थित रिजर्वेशन काउंटर पहुंचे लोग सोशल डिस्टेसिंग को भूलकर पास- पास खड़े हए थे। अधिकांश लोगों ने तो मास्क भी नहीं लगाया था।
अस्पताल; खुद भर्ती हुए मरीज
बसंत बिहार की एक महिला को 17 फरवरी को कोरोना होने की पुष्टि हुई, लेकिन स्वास्थ्य विभाग से ना तो संपर्क किया न ही दवा भिजवाईं। सेहत बिगड़ने पर पति ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया। डीडी नगर निवासी 48 साल के एक व्यक्ति को कोरोना हुआ था। उनके पास फोन आया और वाट्सएप पर दवा बता दीं। दो दिन बाद तबियत खराब होने लगी तो वह खुद सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में भर्ती हो गया।
दवाएं भी घर नहीं पहुंचाईं
स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों के घर दवाएं पहुंचाने की जिम्मेदारी डॉ. प्रतीक दुबे को दी है, लेकिन इसमें लापरवाही बरती जा रही है। जो मरीज घर पर क्वारेंटाइन हैं, उनके परिजन बाजार से दवा ला रहे हैं।
मेले में 98 लाेग बिना मास्क के मिले। शनिवार काे पुलिस ने व्यापार मेले में दाैरान 4 घंटे में बिना मास्क मिले 98 लोगों से जुर्माना वसूला।

खबरें और भी हैं...