पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेलवे:कोरोना संक्रमण का शिकार हो गई नैरोगेज, एक साल से बंद, ब्रॉडगेज की तब्दीली में अभी 5 साल और लगेंगे

ग्वालियर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नैरोगेज से ब्रॉडगेज की तब्दीली में 3 साल से लगा है ग्रहण, 400 करोड़ का बजट मांगा पर मिले 25 करोड़ रुपए

सिंधिया रियासत काल में शुरू हुई 114 साल पुरानी नैराेगेज ट्रेन कोरोना वायरस संक्रमण का शिकार हो गई। दरअसल यह ट्रेन एक साल से रद्द है। साथ ही नैरोगेज से ब्रॉडगेज के काम की रफ्तार भी धीमी है। जिस कारण यात्रियों को अभी कम से कम 5 साल और ट्रेन में सफर करने के लिए इंतजार करना होगा। नैरोगेज ट्रेन के 5 रैक हैं जो इस समय खड़े होकर धूल और जंग खा रहे हैं।

नैरोगेज ट्रेन एक साल से रद्द है। हालांकि यदि रेलवे चाहती तो इसे ग्वालियर से सबलगढ़ या फिर सबलगढ़ से श्योपुर के बीच चला सकते थे। साथ ही दो चरणों में काम कर सकते थे। लेकिन रेलवे ने एक साथ काम करने की बात कहकर और कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की बात कहकर नैराेगेज को रद्द कर दिया है। इससे 50 गांव के 10 हजार से अधिक यात्री आने-जाने को परेशान हैं।

6 साल पहले मिली प्रोजेक्ट को मंजूरी, प्रोजेक्ट पर रेलवे 2912 रुपए खर्च करेगा

ग्वालियर से श्योपुर के बीच 188 किमी लंबी नैरोेगेज को ब्रॉडगेज में परिवर्तन करने की प्रक्रिया 6 साल से चल रही है। प्रोजेक्ट को मंजूरी 2018-19 में मिली। इस प्रोजेक्ट में रेलवे 2912 करोड़ रुपए खर्च कर रहा है। काम पटरी पर आना वाला था कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैल फिर से फैल गया है। जिसके चलते रेलवे का बजट बिगड़ गया। इससे 2021-22 में ग्वालियर-श्योपुर ब्रॉडगेज के लिए रेलवे ने मात्र 25 करोड़ का बजट आवंटन किया गया है।

जबकि झांसी मंडल द्वारा 400 करोड़ रुपए का बजट नए वित्त वर्ष में मांगा था। बजट कम मिलने से ग्वालियर से श्योपुर के बीच ट्रेन 2023 की बजाय 2025 तक दौड़ पाएगी। यानी ट्रेन में सफर करने वाले करीब 10 हजार यात्रियों को 5 साल और इंतजार करना पड़ेगा। तब तक श्योपुर से आने और जाने वाले यात्रियों को बस से ही महंगा सफर करना होगा। इसका कारण ग्वालियर-श्योपुर गेज परिवर्तन के लिए बजट का कम आवंटन होना रेलवे अफसर बता रहे हैं। 3 साल में जिला प्रशासन सिर्फ 70 फीसदी जमीन ही अधिग्रहण कर सका है।

ब्रिज तैयार करने के साथ अर्थवर्क के काम के लिए 1220 करोड़ का टेंडर
रेलवे ने ग्वालियर से सबलगढ़ और सबलगढ़ से श्योपुर के बीच काम करने के लिए टुकड़ों में टेंडर जारी किए हैं। ग्वालियर से सबलगढ़ के बीच काम करने वाली एजेंसी को टेंडर अवॉर्ड हो चुका है। जबकि सबलगढ़ से श्योपुर के बीच अभी अवॉर्ड होना बाकी था। रेलवे ने अर्थवर्क, माइनर ब्रिज, मेजर ब्रिज, रेलवे अंडर ब्रिज, नैरोगेज ट्रैक का डिस्मेंटल करने का टेंडर जारी कर दिया है। रेलवे ने सबलगढ़ से सिलिपुर के बीच 207 करोड़, सिलपुर से श्योपुर के बीच 300 करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया था। इस तरह कुल मिलाकर ग्वालियर से श्योपुर के बीच 1220 करोड़ के टेंडर जारी हुए हैं। लेकिन अब बजट के अभाव में ब्रिज बनाने और अर्थवर्क का काम भी रुक सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें