पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

ग्वालियर में बनेगा देश का पहला दिव्यांग स्टेडियम:दिव्यांग खिलाड़ियों के लिए खुलने जा रही है नई राह, यहां रहकर बच्चे पढ़ेंगे और खेलेंगे

ग्वालियर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ऐसा होगा स्टेडियम का डिजाइन
  • प्रदेश सरकार ने ट्रिपल आईटीएम के सामने 22 हेक्टेयर जमीन आवंटित की, आचार संहिता से पहले हो सकता है भूमिपूजन
  • विभिन्न कोच की भर्ती होगी, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

देश के दिव्यांग खिलाड़ियों के लिए ग्वालियर में नई राह खुलने जा रही है। प्रदेश सरकार ने देश के पहले दिव्यांग खेल केंद्र (स्टेडियम) के लिए ग्वालियर के ट्रिपल आईटीएम के सामने 22 हेक्टेयर भूमि आवंटित कर दी है। मंगलवार काे कैबिनेट बैठक में जमीन देने की मंजूरी दी गई। यह देश का पहला खेल केंद्र होगा, जिसमें दिव्यांग खिलाड़ी न सिर्फ खेलों का हुनर सीखेंगे बल्कि पढ़ाई भी कर सकेंगे। सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग इसके निर्माण पर 170 कराेड़ रुपए खर्च करेगा।

विभागीय अफसराें के मुताबिक इस स्टेडियम में खेल मैदान के साथ खिलाड़ियाें के ठहरने के लिए हाॅस्टल की व्यवस्था रहेगी। उनकी शिक्षा के साथ स्पेशल ट्रेनिंग भी विभाग की देखरेख में होगी। स्टेडियम में प्रतिभावान दिव्यांग खिलाड़ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं के लिए तैयार किया जाएगा। इसके अलावा अब शहर में भी पैरालिंपिक जैसे बड़े आयोजन के रास्ते खुलेंगे।

यहां देशभर के दिव्यांग बच्चाें काे उनकी याेग्यता और मैरिट के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा। विधानसभा उपचुनाव के लिए लागू हाेने वाली आचार संहिता से पूर्व इस खेल केंद्र के निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया जा सकता है। ऐसा हुआ ताे दाे साल में यह खेल केंद्र तैयार हाे जाएगा। इसका ड्राॅइंग और डिजायन तैयार हाे चुका है।

एरिया: 22 हेक्टेयर
बजट: 170 कराेड़
समयसीमा: 2 साल

ये हाेगा खास खेल केंद्र में
आउटडोर एथलेटिक्स स्टेडियम, इनडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बेसमेंट पार्किंग सुविधा, दो स्वीमिंग पूल, एक कवर और एक आउटडोर, क्लास रूम के साथ हाई परफाॅर्मेंस सेंटर, एथलीट्स के लिए हॉस्टल, स्पोर्ट्स एकेडमिक एंड रिसर्च, चिकित्सा सुविधा, प्रशासनिक ब्लॉक

इन खेलों की मिलेगी ट्रेनिंग

  • इनडाेर: बैडमिंटन, बास्केटबॉल, टेबल टेनिस, वालीबॉल, जूडो, ताइक्वांडो, तलवारबाजी और रग्बी।
  • अनुकूलित खेल (इंडोर): बोस्किया, गोलबॉल, फुटबॉल 5 ए साइड, पैरा डांस स्पोर्ट्स व लिफ्टिंग।
  • एकीकृत खेल (आउटडोर): एथलेटिक्स, तीरंदाजी, फुटबॉल 7 ए साइड और टेनिस।
  • स्वीमिंग (इनडोर और आउटडोर)

विभिन्न कोच की भर्ती होगी, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे
इस स्टेडियम के बाद अलग-अलग खेलों में विभिन्न कोचेस की भर्ती होगी। इससे खेल के क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। जो लोग स्पेशल डिग्री के साथ किसी खेल में विशेषज्ञ हैं उन्हें यहां पर नौकरी करने का मौका मिलेगा। स्थानीय स्तर की प्रतिभाओं को बतौर प्रैक्टिकल भी खेल की नई विधाओं और तकनीकों को सीखने का अवसर मिलेगा।

दो साल में बनकर होगा तैयार
दिव्यांग खेल केंद्र के लिए सीपीडब्ल्यूडी ने टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली है। अब प्रदेश सरकार ने जमीन भी आवंटित कर दी है। जल्द ही भूमिपूजन हो सकता है। इसके बाद दो साल में यह स्टेडियम तैयार हो जाएगा। ग्वालियर और प्रदेश के लिए यह बड़ी सौगात है। -राजीव सिंह, संयुक्त संचालक, सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग

दिव्यांग खिलाड़ियाें को मिलेगा प्लेटफार्म
इस खेल केंद्र के तैयार होने के बाद दिव्यांग खिलाड़ियाें को भी आगे बढ़ने के लिए अच्छा प्लेटफाॅर्म मिलेगा। उनको एक ही स्थान पर शिक्षा के साथ खेलने की पूरी सुविधाएं मिलेंगी। ऐसे में खिलाड़ी पूरी मेहनत के साथ अपने खेल काे निखार सकेगा। इसके बाद निश्चित रूप से भविष्य में पदकों की संख्या में इजाफा होगा और ग्वालियर का नाम दिव्यांग खेलों में बड़े लेवल पर उभरेगा। -अजीत सिंह, एथलीट, पैरालिंपिक 2020 के लिए क्वालिफाई

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें