पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Night Curfew Was Imposed To Prevent Corona Infection, But The Infection Rate Increased Three Times Instead Of Decreasing

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक दूसरे से ज्यादा संपर्क में दिन में ही आते:कोरोना संक्रमण को रोकने लगाया था नाइट कर्फ्यू लेकिन घटने की जगह तीन गुना बढ़ी संक्रमण दर

ग्वालियर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेकाबू होते जा रहे संक्रमण को रोकने के लिए लिया गया सरकारी फैसला कितना सही
  • कर्फ्यू के पहले 1.86% थी संक्रमण की दर, जो इसके बाद बढ़कर 7.30 फीसदी तक पहुंच गई

ग्वालियर में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के नाम पर जिला प्रशासन ने पिछले महीने की 17 तारीख से रात के समय कर्फ्यू लगा रखा है। रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक शहर में कर्फ्यू रहता है, लेकिन प्रशासन की इस पहल से कोरोना वायरस संक्रमण घटने की जगह तीन गुना ज्यादा बढ़ गया। नाइट कर्फ्यू लगने के बाद यानी 18 मार्च से 7 अप्रैल तक कुल 26274 सैंपल की जांच हुई, जिसमें 1923 लोग संक्रमण की चपेट में आए।

इस दौरान संक्रमण दर 7.30 % रही, जबकि नाइट कर्फ्यू लगने से पहले के 21 दिनों में 15372 सैंपल की जांच में केवल 286 व्यक्ति संक्रमित निकले थे। इसमें संक्रमण दर 1.86 % रही। जानकारों का मानना है कि रात का कर्फ्यू इसलिए असरदार नहीं रहा, क्योंकि लोग दिन में एक-दूसरे के संपर्क में ज्यादा आकर संंक्रमण को बढ़ा रहे हैं।

एक्सपर्ट व्यू...
नाइट कर्फ्यू से संक्रमण को नहीं रोका जा सकता

  • कोरोना संक्रमण की चेन को रोकने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाना कोई समाधान नहीं है। अब तक कोरोना संक्रमण को लेकर जितना भी शोध किया गया है, उसमें भी यही बात सामने आई है कि मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और हाथों को सेनिटाइज करने के साथ वैक्सीन लगवाना ही बचाव का सर्वोत्तम उपाय है। - डॉ. चंद्रकांत लहारिया, जन नीति और स्वास्थ्य तंत्र विशेषज्ञ

लॉकडाउन के ऐलान से बाजारों में खरीदारों की भीड़ टूटी

शुक्रवार शाम 6 से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन होने के कारण गुरुवार को बाजारों में भीड़ टूटी। लॉकडाउन के दौरान होम डिलीवरी करने वाले व गली-मोहल्ले के दुकानदारों ने थोक कारोबारियों को सबसे अधिक ऑर्डर दिए। जो फुटकर कारोबारी 15 दिन का किराना मंगाता था उसने एक महीने का सामान मंगाया। शहर के गली-माेहल्लों में करीब एक लाख छोटे किराना कारोबारी हैं।

  • दाल बाजार: स्थानीय कारोबारी दिलीप पंजवानी ने बताया कि लोग तो घरों के लिए सामान लेने आए ही। ज्यादा ऑर्डर माेहल्लों के दुकानदारों के थे।
  • सराफा बाजार: लश्कर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष पुरुषोत्तम जैन ने बताया कि वे लोग ज्यादा आए जिनके घरों में शादियां हैं।
  • कपड़ा बाजार: कपड़ा मार्केट एसोसिएशन के सचिव विजय जाजू के मुताबिक रविवार जैसी खरीदारी हुई।

60 घंटे के लॉकडाउन का चेंबर ने किया विरोध
60 घंटे के लॉकडाउन का मध्यप्रदेश चेंबर ऑफ कॉमर्स ने विरोध किया है। चेंबर अध्यक्ष विजय गोयल, मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा है कि पहले ही कारोबार ध्वस्त है। अब फिर लॉकडाउन से कारोबारियों के साथ आम लोगों को असुविधा होगी।

औसत सैंपलिंग सिर्फ 1600, बढ़ेगा खतरा

पिछले 9 दिन से राेज औसतन 150 से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं, लेकिन औसत सैंपलिंग 1600 से ज्यादा नहीं पहुंची। यदि सैंपलिंग नहीं बढ़ाई गई तो सितंबर से ज्यादा केस अप्रैल में देखने को मिल सकते हैं। सितंबर में संक्रमण के 5479 मामले सामने आए थे। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि रोज 2000 से 2200 तक जांच कराने का लक्ष्य रख रहे हैं। जहां ज्यादा संक्रमण है, वहां प्रशासन कैंप लगाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज का दिन मित्रों तथा परिवार के साथ मौज मस्ती में व्यतीत होगा। साथ ही लाभदायक संपर्क भी स्थापित होंगे। घर के नवीनीकरण संबंधी योजनाएं भी बनेंगी। आप पूरे मनोयोग द्वारा घर के सभी सदस्यों की जरूर...

    और पढ़ें