परेशानी:कोरोना के पुराने मरीजों को निमोनिया होने पर वेंटीलेटर व डायलिसिस की पड़ रही जरूरत

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब निमोनिया पहले से ज्यादा घातक, लंग्स लिवर, किडनी के साथ हार्ट पर डाल रहा असर

निमोनिया इस बार घातक रूप में देखने को मिल रहा है। निमोनिया में आमतौर पर लंग्स में इंफेक्शन होता है, जो दवा से ठीक हो जाता है, लेकिन इस बार निमोनिया में लंग्स के साथ लिवर, किडनी और हार्ट पर भी इंफेक्शन देखने को मिल रहा है। इतना ही नहीं कोरोना के पुराने मरीजों में निमोनिया अधिक घातक हो रहा है। ऐसे में मरीजों को अस्पताल में भर्ती करके वेंटीलेटर लगाने के साथ-साथ डायलिसिस करने की भी आवश्यकता पड़ रही है।

वरिष्ठ चेस्ट फिजीशियन डॉ. उज्जवल शर्मा का कहना है कि निमोनिया इस बार नए रूप में देखने को मिल रहा है। सर्दी से बचाव रखने के साथ ही अगर कोई दवा चल रही है तो उसे नियमित रूप से लें। खानपान का ध्यान रखें। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए फल, हरी सब्जियां और मेवा का अधिक उपयोग करें।

सर्दी, खांसी के साथ बुखार बना परेशानी

24 घंटे वेंटीलेटर पर रहना पड़ा

मुरार के एसके जैन को 12 दिन से खांसी, बुखार व सांस लेने में परेशानी थी। जांच में लंग्स में इंफेक्शन था। निमोनिया के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जांच कराई तो पता चला कि उनकी हृदय की गति में परिवर्तन होने के साथ लिवर और किडनी में भी इंफेक्शन है। 24 घंटे वेंटीलेटर पर रहे और दो बार डायिलिसिस करनी पड़ी। अब उन्हें ठीक होकर डिस्चार्ज कर दिया है।

लंग्स इंफेक्शन की दवा लेनी पड़ी

भिंड के रमेश त्यागी को सर्दी, जुकाम व खांसी थी। उन्होंने स्थानीय स्तर पर दिखाकर दवा ली लेकिन आराम नहीं मिला। चेस्ट फिजीशियन को दिखाया तो पता चला कि उनका ऑक्सीजन लेबल 70 रह गया है। उन्हें आईसीयू में भर्ती कर ऑक्सीजन देने पड़ी व लंग्स के इंफेक्शन की दवाएं चलीं। उनकी हृदय की गति तेज हो गई थी। निमोनिया व हृदय संबंधी बीमारी की दवाएं देनी पड़ी। अब वह ठीक हैं।

61 सैंपलों की जांच में 20 लोगों को निकला डेंगू

जिला अस्पताल मुरार और गजराराजा मेडिकल कॉलेज के माइक्रो बायोलॉजी विभाग में मंगलवार को डेंगू के 61 संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच की गई जांच में 20 लोगों को डेंगू होने की पुष्टि हुई है। इनमें से 19 ग्वालियर के तथा एक मरीज भिंड का रहने वाला है। मंगलवार को मिले 19 मरीजों को मिलाकर जिले में अबतक डेंगू के 2, 673 मरीज मिल चुके हैं। जिले में अबतक डेंगू से 9 बच्चों सहित 11 मरीजों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को जिले में चिकनगुनिया को कोई नया मरीज नहीं मिला है। जिले में चिकनगुनिया के 17 मरीज मिल चुके हैं।

खबरें और भी हैं...