• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Ordered Two Burgers Online, Called Customer Care On Cancellation Of Payment, Got 10 Thousand Rupees Cheated From The Account By Clicking On The Link

80 रुपए का बर्गर 10 हजार का पड़ा:ग्वालियर की छात्रों ने 2 बर्गर ऑनलाइन ऑर्डर किए, पैमेंट कैंसल होने पर कस्टमर केयर को कॉल किया; लिंक मिली जिसे क्लिक करते ही अकाउंट से रुपए निकले

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छात्राओं ने घटना की शिकायत शुक्रवार को साइबर सेल में की है। - Dainik Bhaskar
छात्राओं ने घटना की शिकायत शुक्रवार को साइबर सेल में की है।

ग्वालियर में दो छात्राओं को बर्गर पार्टी महंगी पड़ गई। MBA की पढ़ाई कर रही छात्राओं ने टिक्की बर्गर ऑनलाइन ऑर्डर किया था। एक बर्गर 40 रुपए का था। दो बर्गर ऑर्डर किए थे। पेमेंट अपने ई-वॉलेट से किया था। जब काफी देर तक ऑर्डर डिलीवरी नहीं हुई तो उन्होंने कॉल किया। पता चला कि उनका पेमेंट कैंसल होने से ऑर्डर बुक नहीं हुआ था। इसके बाद छात्राओं ने इंटरनेट से ई-वॉलेट कंपनी का नंबर सर्च कर कॉल किया। वहां से 5 मिनट में उनके 80 रुपए वापस करने एक लिंक भेजी। लिंक पर क्लिक करते ही मोबाइल हैंग हुआ और खाते से 10 हजार रुपए निकल गए। छात्राओं ने घटना की शिकायत शुक्रवार को साइबर सेल में की है।

शहर की एकता कॉलोनी निवासी श्रेया (22) मूल रूप से ललितपुर की रहने वाली हैं। यहां ग्वालियर के एक निजी कॉलेज से वह MBA की पढ़ाई कर रही है। एक दिन पहले वह अपने रूम पर सहेली के साथ बैठी थी। दोनों ने बर्गर पार्टी करने का प्लान बनाया। दोनों ने दो टिक्की बर्गर ऑर्डर किए। इसके लिए उन्होंने एक फूड चेन सर्विस का उपयोग कर बर्गर कॉर्नर से 2 टिक्की बर्गर ऑर्डर किए थे।

इंटरनेट से मिला फेक नंबर हो गई ठगी
श्रेया ने अपने खाते से 80 रुपए का भुगतान जो हो चुका था उसे वापस पाने के लिए इंटरनेट से ई-वॉलेट कंपनी का कस्टमर केयर नंबर निकाला है। यहां से उसे फेक नंबर मिला। छात्रा के कॉल करने पर कॉल रिसीव करने वाली एक युवती ने बताया कि 5 मिनट में उनकी टीम से एक कॉल उनको आएगा और पेमेंट वापस कर दिया जाएगा। ऐसा ही हुआ 5 मिनट बाद कॉल आया। कॉल एक युवक ने किया।

उसने बताया कि कई बार सर्वर डाउन होने के कारण भुगतान अटक जाता है। उसने एक लिंक भेजी। इस पर छात्रा ने क्लिक किया तो उसका मोबाइल हैंग हो गया। कुछ देर बाद वापस स्टार्ट किया तो खाते से 10 हजार रुपए निकल गए थे। वापस उसी नंबर पर कॉल किया तो बंद आया। ठगी का अहसास होते ही छात्रा ने साइबर सेल में शिकायत की है।

यह रखें सावधानी

  • किसी भी कंपनी के कस्टमर केयर का नंबर उसकी ऑफिशियल वेबसाइट से निकालें
  • इंटरनेट पर सीधे मिलने वाले नंबर फेक हो सकते हैं
  • किसी भी लिंक पर क्लिक करते समय सावधान रहें
  • अपने मोबाइल पर आए OTP व अन्य पासवर्ड किसी से शेयर न करें
  • अपने डेबिट, क्रेडिट कार्ड की डिटेल किसी से शेयर न करें
खबरें और भी हैं...