पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमण:घर में नहीं रहेंगे मरीज, बाहर से आने वालों के होंंगे टेस्ट; दुकान के बाहर भीड़ और सोशल डिस्टेंस के लिए गोल घेरे भी बनाने होंगे

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अब किसी भी कोरोना संक्रमित को घर पर ही रहने की मंजूरी नहीं होगी। उसे कोविड केयर सेंटर या प्राइवेट अस्पतालोंं के अनुबंधित होटल में रहने की छूट होगी। विशेष परिस्थिति में होम आइसोलेशन की मंजूरी अपर कलेक्टर देंगे। यह बात कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने शनिवार को इंसीडेंट कमांडरों की बैठक में कही। कलेक्टर ने कहा कि अनलॉक में जो बाजार-दुकानें खुलेंगी वहां पर ग्राहक व दुकानदार दोनों को मास्क लगाना होगा।

दुकान के बाहर भीड़ और सोशल डिस्टेंस के लिए गोल घेरे भी बनाने होंगे। ऐसा न करने पर दुकान सील कर जुर्माना भी वसूल किया जाए। बैंक, अस्पताल या अन्य संस्थानों में कोरोना गाइड लाइन का पालन न होने पर एफआईआर दर्ज होगी। कलेक्टर के मुताबिक यदि किसी गली-मोहल्ले में एक भी मरीज मिलेगा तो उसे छोटा और ज्यादा मरीज मिलने पर बड़ा कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा। यह आदेश अब इंसीडेंट कमांडर जारी नहीं करेंगे। वे सिर्फ प्रस्ताव देंगे।
बाहरी लोगों पर निगाह: मुरैना तथा अन्य जिलों की तरफ से आने वाले हर व्यक्ति की जांच होगी। इसकी जिम्मेदारी इंसीडेंट कमांडर की होगी। जांच नाकों पर सख्ती की जाएगी। अब इंसीडेंट कमांडर सिर्फ राजस्व अधिकारी रहेंगे। वहीं ड्यूटी के दौरान जिन शासकीय सेवकों का निधन हुआ है उनकी जानकारी सीईओ जिला पंचायत को देनी होगी, ताकि इन्हें सरकार से मिलने वाले लाभ मिल सकें।

खबरें और भी हैं...