कोरोना की तीसरी लहर:भीड़ भरे बाजारों में बिना मास्क के घूम रहे लोग एडीएम ने दिखाई सख्ती, बड़ा अभियान नहीं

ग्वालियर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार को श्रीमद् भागवत कथा में तय हुई शादी के निकलती बारात, जिसमें सभी बिना मास्क के हैं। - Dainik Bhaskar
शुक्रवार को श्रीमद् भागवत कथा में तय हुई शादी के निकलती बारात, जिसमें सभी बिना मास्क के हैं।
  • प्रशासन की दिखावे की चालान की कार्रवाई का बाजारों पर कोई असर नहीं

कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह दो से तीन बार मीटिंग में एसडीएम, तहसीलदार और इंसीडेंट कमांडरों को निर्देश दे चुके हैं कि बाजारों में बिना मास्क घूमने और सामान बेचने वालों पर सख्ती करें, लेकिन उनके मातहत इन निर्देशों का कड़ाई से पालन नहीं करा पा रहे हैं। लोग बेखौफ बिना मास्क के बाजारों में घूम रहे हैं और दूरी के नियम का पालन भी नहीं कर रहे हैं।

शुक्रवार को दैनिक भास्कर टीम ने शहर के प्रमुख बाजार नजरबाग मार्केट, सुभाष मार्केट, टोपी बाजार, लोहा मंडी, नया बाजार हजीरा चौराहा आदि का मुआयना किया, तो अधिकतर लोग बिना मास्क के घूमते नजर आए। दोपहर 3 बजे के बाद बाड़ा, बारादरी चौराहा, सराफा बाजार में एडीएम इच्छित गढ़पाले, एसडीएम अनिल बनवारिया टीम के साथ निकले और सख्ती दिखाई, लेकिन अन्य एसडीएम व तहसीलदारों ने औपचारिकता की।

रोको-टोको अभियान में डीईओ विकास जोशी ने खुली जेल भेजने के साथ 10 लोगों से निबंध लिखवाया। इसी तरह स्मार्ट सिटी ने स्पीड राडार के जरिए 15 वाहन चालकों के चालान किए। शहर में कुल 543 चालान बने। वहीं स्टेशन पर भी 2 चालन बने।

ग्वालियर उपनगर व मुरार में औपचारिकता हुई
ग्वालियर सिटी एसडीएम प्रदीप तोमर शहर में नहीं हैं, तो इनके तहसीलदार शिवदयाल धाकड़ दिखावे के लिए बहोड़ापुर तिराहे पर गए। 16 चालान का दावा किया लेकिन विस्तृत जानकारी नहीं दे सके। जबकि स्थानीय लोगों ने बताया कि बहोड़ापुर पर चालान की कार्रवाई नहीं हुई। इसी तरह मुरार क्षेत्र में 32 चालान हुए। मुरार ग्रामीण में 9 चालान हुए।

भास्कर लाइव

पांच बाजारों में दिखी लापरवाही
लोहिया बाजार में दुकानदार, उनका स्टाफ व मजदूर मास्क नहीं पहने थे। लोगों की आवाजाही बनी हुई थी, लेकिन अधिकतर लोग मास्क नहीं लगाए थे। भास्कर टीम को फोटो खींचते देख जरूर कुछ लोगों ने मास्क लगा लिए। नया बाजार में भीड़ तो नहीं थी, लेकिन जो भी लोग दुकानों और सड़कों पर थे, उनमें अधिकतर बिना मास्क के ही आ जा रहे थे। नजरबाग और सुभाष मार्केट में लोगों की भीड़ भी थी और उनमें ज्यादातर बिना मास्क लगाए हुए लोग ही थे। हजीरा चौराहा से किलागेट जाने वाली रोड पर मौजूद मार्केट में भी भीड़ थी, लेकिन सभी लोग मास्क नहीं लगाए थे।

एडीएम ने शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और शो-रूम सील करने की धमकी दी तो कारोबारियों ने गलती मानी, जुर्माना
एडीएम इच्छित गढ़पाले सराफा बाजार स्थित ओरनम ज्वेलरी शो-रूम पर पहुंचे, तो वहां सभी लोग बिना मास्क के दिखे। एडीएम ने शोरूम को सील करने की धमकी दी, तो संचालक ने हाथ जोड़कर माफी मांगी। इसके बाद शो-रूम संचालक पर 3 हजार का जुर्माना किया गया। एडीएम ने मुरार में दो शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बाहर भी जो लोग बिना मास्क लगाए थे, सोशल डिस्टेंस के लिए गोले भी नहीं थे, तो दोनों को सील करने की चेतावनी दी। दोनों के खिलाफ 3-3 हजार का जुर्माना किया गया।

एक मेडिकल स्टोर के बाहर कचरा देख एडीएम ने मेडिकल स्टोर संचालक से ही कचरा साफ करवाया। एसडीएम अनिल बनवारिया ने महाराज बाड़ा पर निगम की टीम के साथ 100 लोगों के चालान कर 11 हजार रुपए जुर्माना वसूल किया। 46 लोगों को एक घंटे तक बाड़े पर ही खुली जेल में रखा। ये लोग बिना मास्क ही महाराज बाड़ा पर घूमने आए थे।

खबरें और भी हैं...