पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना में महंगाई की मार:चुनाव खत्म होने के साथ ही लगातार तीसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्ली/ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मार्च के मुकाबले अप्रैल में सस्ता था कच्चा तेल, फिर भी बढ़े दाम
  • ग्वालियर में पेट्रोल 65 और डीजल 77 पैसे हुआ महंगा

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव खत्म होने के साथ ही देश में एक बार फिर पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने लगे हैं। गुरुवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल 25 पैसे प्रति लीटर और डीजल 30 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया। खास बात ये है कि भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अप्रैल महीने में औसत कीमत 63.40 डॉलर प्रति बैरल थी, जो मार्च (64.73 डॉलर प्रति बैरल) से कम है।

चुनाव आयोग ने 26 फरवरी को पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों की घोषणा की थी। इसके बाद 27 फरवरी को पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े थे। फिर 3 मई तक पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी नहीं हुई। अलबत्ता 24 मार्च, 30 मार्च और 15 अप्रैल को कीमतों में मामूली कटौती जरूर हुई। 2 मई को चुनाव के नतीजे आ जाने के बाद सिर्फ एक दिन राहत रही। 4 मई से दोबारा पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने लगीं।

बीते 3 दिनों में पेट्रोल का दाम 59 पैसे और डीजल का दाम 69 पैसे प्रति लीटर बढ़ गया है। दैनिक मूल्य समीक्षा शुरू होने के बाद से दोनों ईंधनों की कीमत में गुरुवार को हुई बढ़ोतरी अब तक की सबसे बड़ी बढ़ोतरियों में से है।

खबरें और भी हैं...