पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्वालियर में संक्रमण रोकने पुलिस की सख्ती:सुबह के 9 बजे और डंडा लेकर लोगों के पीछे दौड़ पड़ी पुलिस, 10 मिनट में बाजार, रास्ते सूनसान

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डंडे चलाकर भीड़ को खदेड़ती पुलिस। - Dainik Bhaskar
डंडे चलाकर भीड़ को खदेड़ती पुलिस।

संक्रमण की चेन तोड़ना है तो लोगों को घरों में ही रोकना बहुत जरूरी है। अब यह बात पुलिस की समझ में आ गई है। शुक्रवार सुबह 9 बजे तक पुलिस ने दूध-सब्जी के लिए मामूली छूट दी। जैसे ही 9 बजे पुलिस लोगों के पीछे डंडा लेकर दौड़ पड़ी। जो सड़क पर मिला उसका स्वागत पुलिस के डंडे ने किया। इसका रिस्पांस यह रहा कि 10 मिनट में बाजार से लेकर सड़कें सूनसान हो गईं। पुलिस अफसर अब हाथों में डंडा लेकर सख्ती के मूड में आ गए हैं।

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह तक लोगों से साफ कह चुके हैं कि संक्रमण को रोकना है तो 15 मई तक घरों में रहो। शादियां तो पूरी तरह भूल जाओ। इसके बाद ग्वालियर पुलिस का अलग ही चेहरा देखने को मिला है। अभी तक जो पुलिस हाथ जोड़कर लोगों को समझा रही थी अब वह सड़क पर डंडे चलाती दिख रही है। क्योंकि अभी तक पुलिस के लाख समझाने के बाद भी लोग सड़कों पर निकलने से बाज नहीं आ रहे थे। पर अब पुलिस समझाने के मूड में नजर नहीं आ रही हैं। पुलिस की सख्ती के तेवर देखकर लोगों को हालात का अहसास हो गया है।

बाजारों में अब पुलिस इस तरह डंडा लेकर घूमने लगी है।
बाजारों में अब पुलिस इस तरह डंडा लेकर घूमने लगी है।

9 बजे के बाद बैठे मिले जो डंडे के जोर पर खदेड़े

बाड़ा, मुरार व हजीरा के कुछ पॉइंट ऐसे हैं जहां सुबह 6 बजे से ही मजदूर काम की तलाश में निकल आते है। यहीं से इनको हर दिन रोजगार मिलता है, लेकिन शुक्रवार को 9 बजने के बाद जब इन लोगों को यहां भीड़ लगाकर बैठे देखा तो पुलिस ने डंडे के दम पर खदेड़ दिया। पुलिस का साफ कहना है कि भीड़ किसी को भी जुटाने की इजाजत नहीं हैं।

बाजार, मोहल्ले बैरिकेड्स लगाकर किए सील

पुलिस ने ऐसे बाजार और मोहल्ले जहां पांच से ज्यादा संक्रमित मिले हैं उन्हें बैरिकेड्स लगाकर सील कर दिया है। जिससे यहां कोई आ जा न सके। साथ ही दिन भर यहां पुलिस तैनात रहती है। इसके साथ ही पुलिस ने शहर के सभी बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। किसी भी वाहन को बिना जांच और हिस्ट्री नोट करे बिना अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है।