पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Preparation To Make 12th Result On The Formula Of 60:40, Seats Will Increase In The Second Phase In Colleges

एमपी बोर्ड:12वीं का रिजल्ट 60:40 के फाॅर्मूले पर बनाने की तैयारी, कॉलेजों में दूसरे चरण में बढ़ेंगी सीटें

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीएसई के पैटर्न पर ही बनेगा रिजल्ट, दसवीं-ग्यारहवीं के अंक निकालना शुरू

सीबीएसई ने 12वीं का रिजल्ट बनाने के लिए 60:40 का फॉर्मूला जैसे ही तय किया, वैसे ही एमपी बोर्ड के स्कूलों ने भी इसी आधार पर रिजल्ट बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। शुक्रवार को शिक्षकों ने छात्रों के हाईस्कूल और ग्यारहवीं के अंकों का रिकॉर्ड और पुरानी मार्कशीटें निकालना शुरू कर दी हैं।

उम्मीद की जा रही है कि जिस तरह सीबीएसई ने फॉर्मूला तय किया है उसी आधार पर एमपी बोर्ड भी फॉर्मूला बनाएगा और जुलाई में रिजल्ट घोषित कर देगा, क्योंकि इसी दौरान काॅलेजों में प्रवेश के लिए पहले चरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जिले में कॉलेजों में इस सत्र में लगभग 9 हजार छात्र ज्यादा पहुंचेंगे, इसलिए प्रथम वर्ष की सीटें बढ़ाई जाएंगी। यह काम प्रवेश प्रक्रिया के दूसरे चरण में होगा।

सीबीएसई ने 12वीं की परीक्षा कोरोना संक्रमण की वजह से आयोजित नहीं की है। लंबे मंथन के बाद तय किया कि 10 वीं और 11वीं से 30-30 प्रतिशत अंक यानी 60 प्रतिशत और 12वीं के यूनिटी टेस्ट और टर्म एक्जाम के आधार पर 40 प्रतिशत अंक दिए जाएंगे। स्कूल शिक्षा विभाग भी कुछ इसी तरह की तैयारी कर रहा है। इसके चलते 10 दिन पहले हर जिले से 6 स्कूलों से छात्रों का 1 वीं, 11वीं और 12वीं का प्रीबोर्ड और छमाही का रिजल्ट मंगवाया गया था। अब जिले के स्कूल के शिक्षकों ने अपने स्तर पर तैयारी शुरू कर दी है। छात्रों का पुराना रिकॉर्ड इकट्‌ठा कर रहे हैं और प्री-बोर्ड तथा छमाही परीक्षा के अंकों की शीट भी अपने पास रख ली है।

कॉलेजों में लगभग 9 हजार छात्र बढ़ेंगेे

इस वर्ष बिना परीक्षा के 12वीं बोर्ड का रिजल्ट घोषित किया जाएगा, ऐसे में लगभग 9 हजार छात्र पिछले साल की अपेक्षा ज्यादा कॉलेजों में पहुंचेंगे। पिछले वर्ष 12वीं बोर्ड की परीक्षा में 22,326 विद्यार्थी शामिल हुए थे, इनमें से 14095 उत्तीर्ण होकर कॉलेज पहुंचे थे। इस बार 23,736 विद्यार्थियों 12वीं बोर्ड में प्रवेश लिया था और उम्मीद है कि रिजल्ट 95 प्रतिशत से ज्यादा हो सकता है। ऐसे में लगभग 9 हजार ज्यादा विद्यार्थी कॉलेजों में प्रवेश लेने के लिए पहुंचेंगे। उच्च शिक्षा विभाग से जुड़े सूत्रों के अनुसार जुलाई के दूसरे या तीसरे सप्ताह में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो सकती है। पहले चरण की प्रवेश प्रक्रिया अगस्त तक चलेगा। इसके बाद प्रवेश प्रक्रिया का दूसरा चरण शुरू होगा, दूसरे चरण में कॉलेजों में सीटें बढ़ाई जाएंगी, ताकि विद्यार्थियों को प्रवेश मिल सके।

खबरें और भी हैं...