पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विमान सेवा में विस्तार की तैयारी:कार्गाे विमान उतारने की तैयारी, एविएशन सिक्यूरिटी की टीम सर्वे करने आज आएगी

ग्वालियर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट बनाने से पहले नागर विमानन निदेशालय (डीजीसीए) राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयर टर्मिनल पर कार्गाे विमान उतारने की तैयारी चल रही है। कार्गाे विमान स्पाइसजेट द्वारा चलाया जाएगा। इससे शहर में उद्योग काे बढ़ावा मिलेगा। कच्चा माल ग्वालियर कम समय में आने के साथ ग्वालियर से जा सकेगा।

कार्गेा विमान उतारने से पहले ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्यूरिटी (बीसीएएस) की टीम गुरुवार को भोपाल से सर्वे करने के लिए आ रही है। यह टीम दो दिन एयरपोर्ट पर रुककर सर्वे करेगी और यह देखेगी कि कार्गो विमान एयरफोर्स की पट्‌टी पर उतारा जा सकता है या नहीं। कार्गाे विमान की लंबे समय से मांग यहां के व्यापारी कर रहे हैं। लेकिन तेजी ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागरिक उड्‌डयन मंत्री बनने के बाद आई है।

एएआई ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की संभावनाएं भी तलाश रही

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) की टीम ग्वालियर में ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की संभावनाआंे को लेकर साड़ा की जमीन को देख चुका है। एएआई ने ग्रीन टर्मिनल के लिए एक हजार एकड़ जमीन मांगी है। इसके साथ ही एयर टर्मिनल के विस्तार के लिए अालू अनुसंधान की 40 हेक्टेयर जमीन पर नए एयर टर्मिनल के निर्माण को लेकर रुचि दिखाई है। अब नागरिक विमानन मंत्रालय तय करेगा कि ग्वालियर में ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट बनाया जाए या फिर एयर टर्मिनल का विस्तार हो।

डबरा में कार्गाे एयरपोर्ट बनाने की कवायद आगे नहीं बढ़ी

लगभग 2 साल पहले डबरा में बंद पड़ी शुगर मिल की जमीन पर कार्गो एयरपोर्ट को लेकर राज्य सरकार ने रुचि दिखाते हुए स्थानीय अधिकारियों से इस जमीन से जुड़ी विस्तृत जानकारी ली थी। इस जमीन पर कार्गो एयरपोर्ट की प्लानिंग 2008 से चल रही है। तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार में मुख्य सचिव रहे एसआर मोहंती ने कलेक्टर से इस प्रोजेक्ट पर काम करने को कहा था। लेकिन इसके बाद सरकार बदल गई, तब से यह मामला आगे नहीं बढ़ सका।

खबरें और भी हैं...