सम्राट मिहिर भोज नाम पट्टिका विवाद:राजपूत व गुर्जर समाज ने प्रस्तुत किए 6000 पेज के दस्तावेज

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सम्राट मिहिर भोज नाम पट्टिका विवाद के निराकरण के लिए बनी कमेटी की तीसरी बैठक बुधवार को संभागीय कमिश्नर आशीष सक्सेना की अध्यक्षता में मोती महल में हुई। बैठक में राजपूत और गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने कुल 6000 पेज के प्रमाण अपने-अपने दावों को पुष्ट करने के लिए प्रस्तुत किए। इन दस्तावेजों की स्क्रूटनी के बाद दो अलग-अलग बस्तों में इनको रखा गया है।

बैठक में राजपूत समाज की ओर से राजेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया सम्राट मिहिर भोज को लेकर उन्होंने कन्नौज, नागौद और जोधपु, जो टीम भेजी थी वहां से जो प्रमाण मिले हैं उनको प्रस्तुत कर दिया गया है। गुर्जर समाज की ओर से बैठक में मौजूद रुकवेंद्र सिंह ने भी सम्राट मिहिर भोज को लेकर सहारनपुर ,दादरी ,अक्षरधाम ,उत्तराखंड का लश्कर का इलाका तक से लाये गए दस्तावेजों को लेकर चर्चा की।

राजपूत और गुर्जर समाज की ओर से प्रस्तुत किए गए दस्तावेजों पर कमेटी में मौजूद दो इतिहासकार अपनी राय प्रस्तुत करेंगे। इसे लेकर एक बार और 16 अक्टूबर को कमेटी की बैठक होगी। जिसमें कमेटी के सभी सदस्य अपने फाइनल कमेंट नोट कराएंगे और उसके बाद 20 अक्टूबर को इस कमेटी की रिपोर्ट बंद लिफाफे में हाई कोर्ट में प्रस्तुत कर दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...