गरीबों की बढ़ी मुसीबत / 47 फीसदी कंट्रोल की दुकानों पर ही पहुंचा राशन, 30 तक बंटना मुश्किल

दुकानों के सामने शहरवासी, सोशल डिस्टेंसिंग के तहत खड़े हुए हैं। दुकानों के सामने शहरवासी, सोशल डिस्टेंसिंग के तहत खड़े हुए हैं।
X
दुकानों के सामने शहरवासी, सोशल डिस्टेंसिंग के तहत खड़े हुए हैं।दुकानों के सामने शहरवासी, सोशल डिस्टेंसिंग के तहत खड़े हुए हैं।

  • नागरिक आपूर्ति निगम के गोदाम से कंट्रोल की दुकानों पर राशन पहुंचाने वाला ट्रांसपोर्टर सिर्फ 47 प्रतिशत दुकानों पर ही राशन पहुंचा पाया है

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 06:36 AM IST

ग्वालियर. कोरोना वायरस से चरमराई व्यवस्था के बीच उन गरीबों पर संकट गहरा गया है, जिनके घर में सार्वजनिक प्रणाली के तहत बंटने वाले राशन से चूल्हा जलता है। नागरिक आपूर्ति निगम के गोदाम से कंट्रोल की दुकानों पर राशन पहुंचाने वाला ट्रांसपोर्टर सिर्फ 47 प्रतिशत दुकानों पर ही राशन पहुंचा पाया है। जबकि 30 मार्च तक अप्रैल और मई माह का राशन बंटना है। अभी तक सभी दुकानों पर राशन पहुंचा नहीं है और अब सिर्फ पांच दिन ही शेष रह गए हैं। ऐसे में कई लोगों के घर में राशन न पहुंचने का संकट हो सकता है।

 
दरअसल, सार्वजनिक प्रणाली के तहत बंटने वाले अप्रैल और मई माह का राशन 30 मार्च तक ही सभी पात्र परिवारों तक पहुंचाना था। क्योंकि फरवरी के पात्र परिवारों को भी राशन देर से मिला था। कई जगह 25 फरवरी को राशन पहुंचा था, ऐसे में कई परिवार तक राशन नहीं पहुंचा था। मार्च में भी यही स्थिति रही। अब अप्रैल और मई माह का राशन मिलने से भी कई परिवार वंचित रह सकते हैं। क्योंकि ट्रांसपोर्टर अभी तक अप्रैल का 74% और मई का 47% राशन ही पहुंचा पाया है। 20 फरवरी तक यह राशन बंटना था, लेकिन अभी तक राशन नहीं पहुंचा है। ऐसे में वह लोग रोज कंट्रोल की दुकानों के चक्कर काट रहे हैं, जो पात्र हैं।  

गड़बड़ी की आशंका...थंब इंप्रेशन की जरूरत नहीं दुकानदार के इंप्रेशन से ही जारी हो जाएगा राशन 
कोरोना वायरस के संक्रमण की आड़ में बड़े स्तर पर राशन के आवंटन में धांधली की आशंका है। दरअसल, अब आवंटन ऑनलाइन कर दिया गया है। पात्र व्यक्ति के थंब इंप्रेशन से ही राशन जारी होता है। ऐसे में अब खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों ने आदेश दिया है कि फिलहाल पात्र व्यक्ति के थंब इंप्रेशन की जरूरत नहीं है। दुकानदार समग्र आईडी डालने के बाद अपने थंब इंप्रेशन से ही राशन जारी कर सकता है। जबकि शासन ने स्पष्ट आदेश दिए थे कि पात्र व्यक्तियों के हाथ सेनिटाइज कराने के बाद बायोमैट्रिक मशीन पर थंब इंप्रेशन लगवाया जाए। लेकिन अधिकारियों ने यह रास्ता निकाल लिया। ऐसे में गड़बड़ी की आशंका है। इससे पहले गरीबों के हक के राशन की कालाबाजारी पकड़ी जा चुकी है। 

वरिष्ठों को अवगत कराया है
अरविंद फालके, जिला प्रबंधक, नागरिक आपूर्ति निगम के मुताबिक, ट्रांसपोर्टर ने अप्रैल का 74 व मई का 47% राशन ही दुकानों तक पहुंचाया है। 20 मार्च तक यह राशन बंटना था। अब उस पर हर ट्रक के हिसाब से 1500 रुपए पेनाल्टी लगाई जा रही है। साथ नोटिस जारी कर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया है। 


गड़बड़ी मिली तो कार्रवाई
सीएस जादौन, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक के मुताबिक, दुकानदार अपने थंब इंप्रेशन से ही राशन जारी कर सकेगा। जिस पात्र व्यक्ति को राशन न मिले, वह शिकायत कर सकता है। अगर दुकानदार की गड़बड़ी आवंटन में सामने आएगी तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना