सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का मामला / कोरोना से जूझ रहे लोगों को खाने में दीं कच्ची व जली रोटियां, नाश्ते में गले फल

Raw and burnt rotis given to people struggling with corona, throat fruits for breakfast
X
Raw and burnt rotis given to people struggling with corona, throat fruits for breakfast

  • मरीज बोले- थैली में बांधकर दिया जा रहा नाश्ता इसलिए जल्दी हो जाता है खराब

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:51 AM IST

ग्वालियर. सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में भर्ती काेरोना पॉजिटिव मरीज उन्हें मिल रहे नाश्ता और खाने काे लेकर दुखी हैं। मरीजाें का कहना है कि प्रशासन उन्हें अच्छा खाना नहीं दे रहा है। खाने में कच्ची और जली हुई रोटियां दी जा रही हैं और नाश्ते में गले फल उन्हें मिल रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन से शिकायत करने के बाद भी इस व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ है।
सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में डबरा के गुप्ता परिवार के 15 संक्रमिताें सहित अन्य मरीज भर्ती हैं। इन्हें नाश्ता देने की जिम्मेदारी जेएएच प्रबंधन की है जबकि खाना उपलब्ध कराने का जिम्मा सीएमएचओ कार्यालय का है। यहां उपचाररत पंकज गुप्ता ने बताया कि अस्पताल में खाना और नाश्ता देर से मिलता है। जो नाश्ता दिया जा रहा है वह एक ही थैली में बांधकर दिया जा रहा है, जिससे फल खराब हो जाते हैं और ब्रेड टूट जाते हैं। घनश्याम गुप्ता का कहना है कि वह 76 साल के हैं, जो रोटी उन्हें दी जा रही हैं वह आधी कच्ची और आधी जली हाेती हैं। इस कारण वह खाना ठीक से नहीं खा पा रही हैं।
इस मामले में सीएमएचओ डॉ. एसके वर्मा ने खाने की शिकायत काे जल्द दूर कराने की बात कही। उधर जेएएच के सहायक अधीक्षक डॉ. विनीत चतुर्वेदी का कहना है कि नाश्ता ठीक दिया जा रहा है। अगर मरीजों को शिकायत है तो नाश्ते का सामान रविवार से अलग-अलग दिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना