पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अराजकता की हद...:बिना अनुमति सड़कों पर दाैड़े ऑटो और ई-रिक्शा, सवारियां भी पास-पास बैठाईं

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सवारी वाहन चालकों की लापरवाही और जिम्मेदारों की अनदेखी से बढ़ सकता है कोरोना संक्रमण का खतरा

क्राइम रिपोर्टर| ग्वालियर  लॉकडाउन 4.0 में बाजार खुलने के साथ ही शहर में सवारी वाहन चालकाें की अराजकता शुरू हाे गई। शुक्रवार को बिना अनुमति ही ऑटो और ई-रिक्शा दौड़ते नजर आए। हालात यह थे कि इन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान नहीं रखा। अधिक सवारी बैठाने के चक्कर में न केवल सवारियों को पास-पास बैठाया बल्कि मनमाना किराया भी वसूला। यहां तक कि कई लोग तो मास्क तक नहीं लगाए थे। पुलिस भी बाजारों में मौजूद थी लेकिन ऑटो व ई-रिक्शा चालक इनके सामने ही निकल रहे थे। इनको रोका तक नहीं गया। सवारी वाहन चालकों की इस अराजकता और जिम्मेदार अफसरों की अनदेखी के कारण शहर में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। इस लापरवाही से बढ़ जाएगा कोरोना संक्रमण का खतरा सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कराने के लिए प्रशासन के आदेश हैं कि दोपहिया वाहनों पर एक ही व्यक्ति बैठेगा जबकि निजी चार पहिया वाहन पर ड्राइवर सहित दो को अनुमति है। इसके बावजूद अनुमति और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखे बिना ही सवारी वाहन चलना पुलिस, प्रशासन और परिवहन विभाग की अनदेखी को साफ बयां कर रहा है। लेकिन यह अनदेखी शहर में कोरोना संक्रमण को बढ़ा सकती है। क्योंकि शुक्रवार को  जिस तरह बेधड़क सवारी वाहन चले और मनमर्जी से पास-पास सवारियां बैठाईं उससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता नहीं नजर आया।  

संकरे बाजारों में जाम के हालात  

लश्कर के माधौगंज, चावड़ी बाजार, गोरखी स्काउट, कंपू, केआरजी तिराहा, नया बाजार तिराहा और हॉस्पिटल रोड पर जगह-जगह ऑटो चालक खड़े थे। ऑटो चालकों ने सवारियां बैठाना शुरू कर दीं। जगह-जगह ऑटो चालकों की वजह से वाहन भी फंसने लगे। लश्कर के संकरे बाजारों में जाम की स्थिति बनी। यहां अपने हिसाब से यह लोग सवारियां बैठा रहे थे। सोशल डिस्टेंसिंग का बिल्कुल ख्याल नहीं रखा। जो लोग इनमें सवार होकर बाजार पहुंचे, उनसे मनमाना किराया भी वसूला। इससे आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

डीएसपी ट्रैफिक का जवाब:  हमने ऑटो चालकों को रोका तो बोले- रिश्तेदार को अस्पताल लेकर जा रहे हैं 

जब बिना अनुमति सड़कों पर सवारियों को भरकर फर्राटा भर रहे इन सवारी वाहनों के संबंध में डीएसपी ट्रैफिक नरेश अन्नोटिया से भास्कर ने सवाल किया तो उन्हाेंने बताया कि ऑटो शुरू होने के बाद बाजारों में शुक्रवार को इन्हें रोका गया था। ऑटो चालक एक या दो लोगों को ही बैठाए थे। जब इनसे पूछा तो किसी ने सवारी को अपना रिश्तेदार बताया तो किसी ने दोस्त। कोई बोला कि उसने ऑटो होम डिलीवरी के लिए अटैच कर रखी है। यह लोग बहाने बनाने लगे। लेकिन शनिवार से चेकिंग अभियान चलाया जाएगा। ऐसे ऑटो चालकों पर कार्रवाई भी की जाएगी। 

अफसर करें प्लानिंग यात्रियों की संख्या भी निर्धारित की जाए 

ऑटो और ई-रिक्शा के संचालन को लेकर प्रशासन व पुलिस अफसरों ने प्लानिंग नहीं की। जब इनके लिए कोई प्लानिंग नहीं की तो ऑटो और ई-रिक्शा चालकों ने अपनी मर्जी से ही इनका संचालन शुरू कर दिया। प्रशासन सवारियों की संख्या निर्धारित कर इनका संचालन करा सकता है। इसके लिए चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मियों को चेकिंग की जिम्मेदारी दी जाए। ऐसे व्यवस्था बन सकती है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें