पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर की आशंका:भितरवार में 343 लोगों के लिए सैंपल, रही में 20% बच्चों को खांसी-जुकाम की शिकायत

ग्वालियर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रैपिड जांच में पॉजिटिव मिलीं 3 बच्चियां आरटीपीसीआर में निगेटिव

भितरवार ब्लॉक के रही गांव में 14 माह की बच्ची, मछरैया गांव में 8 माह की बच्ची और मोहनगढ़ में नरवर क्षेत्र से आई बच्ची को रैपिड जांच में कोरोना होने की पुष्टि हुई थी लेकिन ये तीनों आरटीपीसीआर में निगेटिव पाई गईं। मंगलवार को जिला अस्पताल की टीम ने इन स्थानों से 343 लाेगाें के सैंपल लिए।

इनमें रही से 206, मछरैया से 43, बांसड़ी से 18, तहसील कार्यालय से 15 और भितरवार बस स्टैंड पर 54 सैंपल शामिल हैं। इन सैंपलों को जांच के लिए गजराराजा मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजिकल लैब भेजा गया है। इसकी रिपोर्ट बुधवार को आएगी। उधर भितरवार बीएमओ डाॅ. देवेंद्र सिंह राजावत की टीम ने मरीजों की कॉन्ट्रेक्ट हिस्ट्री पता करने मछरैया पहुंची। बच्चियाें के परिजन का कहना था कि वह खेती करते हैं। न उनके घर कोई आया है और न वह बाहर गए। टीम को 12 लोगाें में सर्दी, जुकाम के लक्षण मिले। इसमें 60 वर्षीय दो पुरुष, 4 व 8 साल के दो बच्चे तथा 8 युवा शामिल हैं। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि रही गांव में 20 फीसदी बच्चों को खांसी-जुकाम की शिकायत है।

वैक्सीन के 25980 डाेज मिले, 22 और 24 को लगेंगे टीके

कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान में अब फिलहाल वैक्सीन की कमी नहीं रहेगी। इसके लिए क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं के सिटी सेंटर स्थित वैक्सीन हाउस में 1 लाख 3 हजार 580 डोज कोविशील्ड तथा 20 हजार 700 डोज को-वैक्सीन के आ गए हैं। इसमें ग्वालियर को कोविशील्ड के 22780 डोज और को-वैक्सीन के 3200 डोज मिले हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. आरके गुप्ता का कहना है कि 22 जुलाई को 35 हजार से अधिक लोगों को टीके लगेंगे। यह टीके भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर स्लॉट बुक करने वालों को ही लगेंगे। कोविशील्ड के 30 हजार डोज और आ रहे हैं। इसलिए 24 जुलाई को भी टीकाकरण कार्यक्रम हाेगा। वहीं गर्भवती महिलाओं को टीके लगाने का काम जल्द शुरू होगा। इसके लिए आदेश का इंतजार किया जा रहा है। संभवत: 24 जुलाई से ये टीके लगना शुरू हो सकते हैं।

टीबी अस्पताल के दो वार्ड कोविड बच्चों के इलाज के लिए तैयार होंगे

ग्वालियर| बच्चों को कोविड होने के बाद उनका समुचित इलाज हो सके इसके लिए जयारोग्य चिकित्सालय प्रबंधन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ ने बताया कि टीबी अस्पताल में वर्तमान में कोरोना के मरीज भर्ती होते हैं। इस अस्पताल के दो वार्डों को कोरोना पीड़ित बच्चों के लिए इलाज के लिए तैयार कराया जाएगा। इसे लेकर वह बुधवार को पीडियाट्रिक के विभागाध्यक्ष डॉ. अजय गौड़ के साथ बैठक कर वार्ड के लिए आवश्यक उपकरण और दवाओं की सूची तैयार करेंगे। आवश्यक उपकरण और दवाओं को जल्द मंगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...