पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शहर के चारों बॉर्डर पर आने-जाने वालों की कड़ी जांच:सीमाएं सील, बाहर से आने वाली बसों को लौटाया, थर्मल स्क्रीनिंग भी शुरू

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुरानी छावनी स्थित निरावली तिराहे पर जांच के दौरान तितर-बितर खड़े वाहन। - Dainik Bhaskar
पुरानी छावनी स्थित निरावली तिराहे पर जांच के दौरान तितर-बितर खड़े वाहन।
  • पुरानी छावनी, महाराजपुरा और मोहना रोड पर लगी वाहनों की कतार

शहर में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इसके चलते शहर की सीमाएं सील कर दी गई हैं। बाहर से आने वालीं बसें और दूसरे शहर से आने वाले लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। जिन्हें किसी जरूरी काम से ग्वालियर आना है या जो लोग यहां के निवासी हैं, सिर्फ उन्हीं को प्रवेश दिया जा रहा है। प्रवेश से पहले भी थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा रही है।

जिनका तापमान अधिक है या फिर सर्दी-जुकाम है, उनका नाम, पता स्मार्ट सिटी के कंट्रोल कमांट सेंटर में नोट कराया जा रहा है। जिससे इन्हें आइसोलेट करने के साथ ही जरूरत पड़ने पर रेपिड एंटीजन टेस्ट कराया जा सके। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने शाम को आदेश जारी किए। इसके बाद शहर की सीमाओं पर पुलिस, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात हो गई। बस और बाहर से आने वाली बसों को जैसे ही लौटाना शुरू किया तो लाइन लगना शुरू हो गई। पुरानी छावनी, महाराजपुरा और मोहना रोड पर जाम लग गया। गाड़ियों की लंबी लाइन लग गई।

पुरानी छावनी स्थित निरावली तिराहे पर पुरानी छावनी थाने का फोर्स लगाया गया है। यहां शाम 6 बजे से थर्मल स्क्रीनिंग और बाहर से आने वाली गाड़ियों को लौटाना शुरू कर दिया गया। इसके बाद जाम लगना शुरू हो गया। रात 11 बजे तक यहां गाड़ियां फंसी हुई थी।

यात्री रहे परेशान, मोहना से वापस की बसें, 10 के चालान भी
मोहना नाके पर शुक्रवार को 18 बसों को वापस कर दिया गया। जो सवारियां ग्वालियर आ रही थीं उन्हें वहीं उतरना पड़ा। इनमें से कुछ ट्रकों में बैठकर ग्वालियर पहुंचे। दो घंटे में ऐसी 10 बसों के चालान कर जुर्माना वसूला गया जिनमें यात्री और स्टाफ बिना मास्क लगाए बैठे थे। एसडीएम संजीव खेमरिया ने कहा कि अब सिर्फ रोगी वाहन और शव लेकर जा रहे वाहनों के अलावा माल लेकर गुजर रहे ट्रकों को ही ग्वालियर में घुसने दिया जा रहा है।

इधर, पंजीयन विभाग के दफ्तर में रजिस्ट्री के लिए उमड़ रही भीड़

ग्वालियर| कोरोना संक्रमण रोकने शादी व गंगभोज जैसे कार्यक्रमों पर सख्ती है दूसरी तरफ पंजीयन विभाग में रजिस्ट्री कराने रोज भीड़ पहुंच रही है। वरिष्ठ उप पंजीयक दुष्यंत दीक्षित ने कहा कि 60 फीसदी दस्तावेज पंजीयन के लिए पांच से ज्यादा लोग दफ्तर में आते हैं। अभिभाषक मनीष मंगल ने कहा कि चार दिन पहले शंकरपुर की एक रजिस्ट्री मेंं संयुक्त खाता होने के कारण विक्रेता के रूप में 8, इसके अलावा गवाह व खरीदार सहित कुल 16 लोग पंजीयन दफ्तर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि पंजीयन दफ्तर में कलेक्टर की धारा 144 का उल्लंघन हो रहा है जो संक्रमण और बढ़ा सकता है।

खबरें और भी हैं...