पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:खाद्य अफसरों की टीम देख बंद की मिजाजी मार्केट में मावा की आठ दुकानें, सभी सील

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मावे की दुकानें सील करती खाद्य विभाग की टीम। - Dainik Bhaskar
मावे की दुकानें सील करती खाद्य विभाग की टीम।
  • तीन अन्य दुकानों से जुर्माने की 70 हजार की वसूली की गई

मोर बाजार की मावा दुकानें जांच टीम को देख बंद हो गईं। जो खुली थीं उनके पास मावा ही नहीं था। टीम को संदेह है कि ऐसा कार्रवाई से बचने के लिए जानबूझकर किया गया है। इसी कारण खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने 8 दुकानें सील कर दीं।

अभिहित अधिकारी संजीव खैमरिया के साथ सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुबह मोर बाजार पहुंचे। इन्हें देखकर दुकानदारों ने मावा छुपा दिया। इसके बाद पूरी टीम पास में बनी मिजाजी मार्केट पहुंची। संदेह यह था कि इस मार्केट में मावा कारोबारी गोदाम बनाकर मावे की सप्लाई कर रहे हैं। यहां सभी दुकानें बंद मिलीं।

मार्केट मालिक दयाचरण शर्मा को बुलाकर दुकानदारों के नाम पूछे गए। श्री शर्मा ने कहा, मार्केट में पप्पू गर्ग, गोपाल अग्रवाल, विक्रम सिंह परिहार, जबर सिंह नरवरिया, अजय गर्ग, भोगी राम, मुकेश और श्याम गर्ग की दुकानें हैं। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने दया चरण शर्मा को भेजकर सभी दुकानदारों को बुलवाया पर वे नहीं आए।

इसके बाद श्री खैमरिया ने सभी 8 दुकानें सील करवा दीं। टीम बालाबाई का बाजार में भगवान दास एंड संस पर पहुंची। यहां से लाल व पीला फूड कलर के नमूने लिए गए। चितेराओली में अग्रवाल के मसाले (अग्रवाल पिसाई केंद्र) की भी जांच टीम ने की। यहां मसालों की पैकिंग होते मिली। पैकेट पर कई जानकारी नहीं थींं। टीम ने हल्दी व मिर्च पावडर का नमूना लिया। चिटनीस की गोठ में एमजे ट्रेडर्स से रजनीगंधा का नमूना भी लिया गया।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी गोविंद नारायण सरगैंया व आनंद शर्मा ने तीन दुकानों से जुर्माने की 70 हजार रुपए की वसूली की। मनीष एंड कंपनी व रमेशचंद किराना माधौगज से 25-25 हजार तथा पवन मेडिकल से 20 हजार रुपए अर्थदंड वसूला गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें