• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • So Far 442 Dengue Positive Cases Have Been Reported In Gwalior With 132 Patients In 4 Days, Surprisingly, 245 Of Them Are Children, More Than 150 Have Been Spot Fined

कोरोना से राहत डेंगू ने उड़ाए होश:4 दिन में 132 मरीज के साथ ग्वालियर में अब तक 442 डेंगू पॉजिटिव केस आए सामने, इनमें 245 बच्चे हैं, 150 से ज्यादा पर स्पॉट फाइन

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में कुछ इस तरह भर्ती हैं मरीज, लगातार पेशेंट बढ़ते जा रहे हैं। - Dainik Bhaskar
ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में कुछ इस तरह भर्ती हैं मरीज, लगातार पेशेंट बढ़ते जा रहे हैं।
  • डीडी नगर, मुरार व सिकंदर कंपू बने हैं हॉट स्पॉट

ग्वालियर में कोरोना से राहत है। एक्टिव केस जीरो हो गए हैं, लेकिन डेंगू ने होश उड़ा रखे हैं। ताबड़तोड़ डेंगू के पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं। अभी तक 442 डेंगू के मरीज सामने आ चुके हैं, लेकिन डराने वाली बात यह है कि इनमें 245 बच्चे मरीज हैं। बीते 4 दिन में 132 मरीज डेंगू के निकले हैं। ग्वालियर के डीडी नगर, पिंटो पार्क, मुरार व सिकंदर कंपू डेंगू के हॉट स्पॉट बने हुए हैं।

डेंगू के लगातार केस बढ़ने पर बीते दो साल का रिकॉर्ड भी टूट गया है। साल 2019 में 370 केस आए थे और वर्ष 2020 में कोविड के चलते सिर्फ 16 केस ही मिले थे। इस बार दो साल का रिकॉर्ड डेंगू तोड़ चुका है। इतना ही नहीं नगर निगम की टीम भी घर-घर जांच कर लार्वा चेक कर रही हैं। अभी तक 150 लोगों पर स्पॉट फाइन कर चुके हैं।

शहर के साथ ग्रामीण इलाकों में भी स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन फॉगिंग करा रहा है
शहर के साथ ग्रामीण इलाकों में भी स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन फॉगिंग करा रहा है

शहर में डेंगू तेजी से फैल रहा है। गजराराजा मेडिकल कॉलेज के माइक्रो बायोलॉजी विभाग एवं जिला अस्पताल मुरार में गुरुवार को 141 संदिग्ध मरीज के सैंपलों की जांच में 42 को डेंगू होने की पुष्टि हुई है। इनमें से 30 ग्वालियर तथा 12 अन्य जिलों के रहने वाले हैं। जिले में डेंगू पीड़ित मरीजों की संख्या 442 पहुंच गई है। गुरुवार को मिले जिले के 30 मरीजों में से 22 बच्चे हैं। पिछले एक माह में जिले में डेंगू के 415 मरीज मिल चुके हैं जिसमें से 245 बच्चे हैं।
डीडी नगर, पिंटो पार्क, मुरार,सिकंदर कंपू बने हैं डेंजर जोन
डेंगू काे लेकर अभी तक महाराजपुरा, डीडी नगर, पिंटो पार्क, मुरार, सिकंदर कंपू, थाटीपुर हॉट स्पॉट (डेंजर जोन) बनते जा रहे हैं। इसलिए नगर निगम की स्पॉट फाइन करने वाली टीमें भी इन्हीं इलाकों में डेंगू की रोकथाम के लिए लगातार सर्वे कर रही हैं। लोगों को सलाह दी जा रही है कि कैसे रोज 10 मिनट निकालकर वह डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियां से दूर रह सकते हैं।
जो दिख रहा है खतरा उससे भी कहीं ज्यादा
शहर में डेंगू के जो पॉजिटिव सामने दिख रहे हैं असल में खतरा उससे भी कहीं ज्यादा है। क्योंकि शहर में संचालित प्राइवेट पैथोलॉजी लैब पर भी डेंगू की जांच हो रही है। इनमें कई मरीज डेंगू पॉजिटिव भी निकल रहे हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग के पास इसकी कोई जानकारी नहीं है। इसका एक उदाहरण गुरुवार को ही सामने आया है सिकंदर कंपू क्षेत्र में 5 साल के बच्चे की डेंगू के चलते मौत हो गई थी। इसकी जांच ललितपुर कॉलोनी में संचालित एक प्राइवेट लैब पर हुई थी। लैब संचालक ने इसकी जानकारी CMHO कार्यालय को नहीं दी।
आपके 10 मिनट दूर भगा सकते हैं डेंगू, मलेरिया
जिला प्रशासन, नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग लगातार तार लोगों को जागरूक कर रहा है। CMHO डॉ. मनीष शर्मा ने विनय नगर में खुद जाकर लोगों को समझाया है कि हर दिन सुबह 10 मिनट अपने घर की सफाई को दें। कहीं भी पानी जमा न होने दें, आसपास भी पानी का भराव न होने दे। यदि आप ऐसा करेंगे तो डेंगू, मलेरिया दूर भागेगा। इस दौरान उन्होंने कोविड का उदाहरण दिया कि लोगों ने मास्क,सेनिटाइजर व सोशल डिस्टेंस का पालन किया तो कोविड से बचे रहे।

खबरें और भी हैं...