• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Some More Victims Of The Thug Jain Brothers Reached The Police Officers, The Police Was Taking Out The Details Of Buying A New Property, Bank Account

एक करोड़ की ठगी करने वाले तीन भाई गिरफ्तार...:ठग जैन भाइयों के कुछ और भी शिकार व्यापारी पुलिस अफसरों के पास पहुंचे, बैंक अकाउंट, नई प्रॉपर्टी खरीदने की डिटेल निकाल रही पुलिस

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए तीनों भाई - Dainik Bhaskar
पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए तीनों भाई

ग्वालियर के मुरार सदर बाजार व सराफा बाजार के आधा सैकड़ा व्यापारियों से करीब एक करोड़ रुपए ठगने वाले तीन जैन सगे भाइयों काे सोमवार का पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनकी गिरफ्तारी की खबर मिलते ही कई और व्यापारी भी थाने पहुंच गए हैं जो उनके शिकार हुए हैं। पुलिस को आशंका है कि इनके और भी कई व्यापारी शिकार हुए होंगे।

धीरे-धीरे तीनों ठग भाइयों के राज खुलते जा रहे है। पुलिस ने तीनों के घर पर दबिश देकर उनके बैंक अकाउंट, पासबुक, अन्य FDR के दस्तावेज जब्त कर लिए हैं। उनकी संपत्ति की जांच शुरू कर दी है। पुलिस रजिस्ट्रार ऑफिस से पता लगा रही है हाल ही में इन्होंने कोई प्रॉपर्टी तो नहीं खरीदी है।
यह है पूरा मामला
- मुरार के माल रोड पर जैन मोबाइल शोरूम और जैन वीडियो के नाम से कारोबार करने वाले तीन सगे भाई गुड्डू जैन, पप्पी जैन और मनोज जैन पर लगभग एक करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है। इन तीनों सगे भाइयों के खिलाफ माल रोड, सदर बाजार, मुरार सराफा बाजार के 30 से ज्यादा व्यापारियों ने पुलिस के पास पहुंचकर धोखाधड़ी का आरोप लगाया था। इन तीनों सगे भाइयों पर व्यापारियों ने आरोप लगाया है कि इन्होंने अपना मोबाइल का कारोबार बढ़ाने और मकान को लोन से मुक्त कराने की कहानी सुनाकर किसी से 15 लाख तो किसी 10 लाख रुपए लिए। इस तरह व्यापारियों से करीब एक करोड़ से अधिक रुपए उधार ले लिए। व्यापारियों को जल्द पैसे लौटाने का भी आश्वासन दिया। जब पैसे वापस देने का समय आया तो वहां व्यापारियों को आजकल की कहकर टाल मटोल करने लगा। उधारी के पैसे वापस लेने पहुंच रहे व्यापारियों को तीनों के द्वारा अन्य दूसरे व्यापारियों से पैसे उधार लेने की बात पता चली। तभी सभी व्यापारी इकट्ठे होकर तीनों भाइयों के पास पैसे लेने के लिए पहुंचे तो उन्होंने पैसे वापस ना लौटाने के साथ-साथ झूठे केस में फंसा देने की धमकी दे डाली। जिस पर सभी व्यापारी पुलिस थाने जा पहुंचे। जहां उन्होंने तीनों के द्वारा धोखाधड़ी करने की शिकायत की। वहीं पुलिस ने व्यापारियों की शिकायत पर तीनों आरोपियों खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। जिसके बाद यह सभी अंडर ग्राउंड हो गए। जिस पर पुलिस ने सोमवा को तीनों आरोपियों को उनके घर के पास से एक अन्य मकान से गिरफ्तार कर लिया है। यह कुछ दस्तावेज लेने के लिए आए थे।
FIR होते ही और व्यापारी पहुंचे थाने
- तीनों जैन भाइयों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज होते ही शहर में खबर फैल गई। इसके बाद और भी कई व्यापारी अपने साथ ठगी का दुखड़ा रोते हुए मुरार थाना पहुंचे हैं। अभी तक आधा सैकड़ा व्यापारी उनके शिकार हो चुके हैं। पुलिस को आशंका है कि और भी कई व्यापारी होंगे जो इनके गिरफ्तार होने के बाद सामने आ सकते हैं। अभी पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
प्रॉपर्टी में पैसा लगाने की बात पता लगी
- कुछ व्यापारियों ने पुलिस को यह इनपुट दिया है कि पकड़े गए तीनों आरोपियों ने ठगी का पैस प्रॉपर्टी खरीदने में लगाया है। इसके बाद पुलिस पंजीयन कार्यालय से तीनों के संबंध में डिटेल मांग रही है। जिसमें पूछा जाएगा कि बीते एक साल में तीनों ने अपने नाम या पत्नियों या बच्चों के नाम पर कोई प्रॉपर्टी तो नहीं खरीदी है। साथ ही पुलिस तीनों की बैंक डिटेल भी छान रही है।

खबरें और भी हैं...