जेयू में रिसर्च शुरू:शतपुष्पा के बीज के नैनो पार्टिकल से महिलाओं को होने वाले सिंड्राेम का किया जा सकेगा इलाज

ग्वालियर16 दिन पहलेलेखक: प्रदीप बौहरे
  • कॉपी लिंक
पेड़-पौधों के जरिए हर्वल दवाएं की जा रही हैं विकसित। - Dainik Bhaskar
पेड़-पौधों के जरिए हर्वल दवाएं की जा रही हैं विकसित।

जीवाजी यूनिवर्सिटी के हेल्थ सेंटर में हर्बल मेडिसिन पर काम हो रहा है यानि पेड़-पौधों के विभिन्न भागों के शरीर पर होने वाले प्रभावों का अध्ययन कर दवाएं विकसित की जा रही हैं। अभी शतपुष्पा (साेहा) के बीज का नैनो पार्टिकल बनाकर पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम की रोकथाम पर पर काम किया जा रहा है। हेल्थ सेंटर के डॉक्टर्स का कहना है कि शतपुष्पा के बीज के शरीर पर प्रभाव पर पहले भी काम हुए हैं लेकिन नैनो पार्टिकल बनाकर पहली बार काम किया जा रहा है।

इससे कम मात्रा में इसका उपयोग करके ज्यादा फायदा होगा, यह सीधे टारगेट एरिया में इफेक्ट करेगी। जीवाजी यूनिवर्सिटी के हेल्थ सेंटर की डॉ. मीनाक्षी पाल बघेल के कहती हैं कि महिलाओं के 14 से 38 वर्ष तक आयु वर्ग में गायनिक डिसीज पाॅलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम ज्यादा देखा जा रहा है। इसमें महिलाओं के शरीर के शरीर पर अनचाहे बाल, मोटापा और अनियमित माहवारी जैसी परेशानियां दिखाई देती हैं।

इसके साथ ही हार्मोनल डिस्टरबेंस भी होता है इससे महिलाओं में डायबिटीज जैसे लक्षण भी दिखाई देना शुरू होते हैं। शतपुष्पा (सोहा) पाैधे के बीज का नैनो पार्टिकल बनाया गया है, इस पौधे के बीज के गुण गायनिक डिसीज में फायदा देते हैं। ऐसा आयुर्वेद में भी उल्लेख आता है लेकिन अब तक इसके नैनो पार्टिकल को लेकर रिसर्च नहीं हुई है। जेयू में नैनो पार्टिकल पर रिसर्च की जा रही है, इससे कम मात्रा में इसकी बनाई दवा ज्यादा फायदा देगी। इसके साथ ही नैनो पार्टिकल से बनाई गई दवा की कितनी मात्रा देना चाहिए। इसका भी निर्धारण किया जा रहा है।

नैनो पार्टिकल से पहली बार की जा रही है इस तरह की रिसर्च
हेल्थ सेंटर के कॉर्डिनेटर प्रो. जीबीकेएस प्रसाद कहते हैं कि पेड़-पौधों के विभिन्न भागों में मानव शरीर के लिए कई उपयोगी चीजें मिलती हैं। ऐसा आयुर्वेद में बताया गया है, हेल्थ सेंटर में भी विभिन्न पौधों को लेकर काम चल रहा है। शतपुष्पा (सोहा) को लेकर भी काम किया शुरू किया गया है। सामान्य रूप से इससे अच्छे परिणाम मिले हैं लेकिन अब इसके नैनो पार्टिकल बनाकर पहली बार रिसर्च की जा रही है।

खबरें और भी हैं...