• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Accused Of Rape Admitted In JAH's Cardiology Escaped By Slipping Handcuffs, Was Brought By The Chhatarpur Police A Day Ago.

ग्वालियर में सोती रह गई पुलिस:JAH के कार्डियोलॉजी में भर्ती दुष्कर्म का आरोपी हथकड़ी खिसकाकर फरार, एक दिन पहले छतरपुर पुलिस लेकर आई थी

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी हथकड़ी खिसकाकर भाग गया, बाहर पुलिस को पता ही नहीं चला - Dainik Bhaskar
आरोपी हथकड़ी खिसकाकर भाग गया, बाहर पुलिस को पता ही नहीं चला
  • कहां से भागा रहस्य बरकरार, कंपू पुलिस ने दर्ज किया मामला

ग्वालियर के जयारोग्य हॉस्पिटल (JAH) स्थित कार्डियोलॉजी में भर्ती दुष्कर्म का आरोपी पुलिस जवान और अफसरों को चकमा देकर फरार हो गया है। आरोपी को छतरपुर के ईसागढ़ थाना पुलिस गुरुवार रात 8 बजे सीने में दर्द की शिकायत पर लेकर ग्वालियर आई थी। वार्ड में पुलिस को अंदर जाने की इजाजत नहीं थी। पुलिस जवान व सब इंस्पेक्टर बाहर बैठे रहे और दुष्कर्मी हथकड़ी खिसका कर फरार हो गया।

घटना शुक्रवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच की है। पुलिस जवान घंटों उसे यहां वहां तलाशते रहे। आखिर में जब वह नहीं मिला तो शुक्रवार दोपहर ग्वालियर के कंपू थाने पहुंचे और मामले की शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर फरार बंदी की तलाश शुरू कर दी है। साथ ही CCTV कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।
छतरपुर में वर्ष 2018 में अनुसूचित जाति की एक महिला के साथ दुष्कर्म के आरोप में ईसागढ़ थाना में आरोपी राधाचरण यादव (45) पुत्र हल्कासिंह यादव के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। जिसकी छतरपुर पुलिस को तलाश थी। अभी दो दिन पहले उसे ईसागढ़ पुलिस ने पकड़ा था। वह हवालात बंदी था। पर उसे हार्ट और पाइल्स की बीमारी थी। गुरुवार को उसे सीने में दर्द होने पर न्यायालय के आदेश पर पुलिस उसे लेकर ग्वालियर JAH लेकर पहुंची थी। यहां उसे कॉडियोलॉजी के वार्ड में भर्ती कराया था। उसकी निगरानी के लिए सब इंस्पेक्टर लक्ष्मण सिंह व तीन अन्य पुलिसकर्मी ग्वालियर में अस्पताल में तैनात किए गए थे। गुरुवार रात 8 बजे उसे कार्डियोलॉजी में भर्ती कराया गया था। वार्ड के अंदर पुलिस को जाने की इजाजत नहीं थी। पुलिस बाहर ही पहरा दे रही थी। रात 3 बजे एक संतरी राधाचरण को टॉयलेट लेकर गया और 10 मिनट बाद वापस उसके बिस्तर पर हथकड़ी लगाकर छोड़ आया। इसके बाद वह बाहर आकर बैठ गए। करीब एक घंटे बाद एक संतरी चेक करने कार्डियोलॉजी के अंदर गया तो देखा कि बंदी अपने से गायब है। नीचे उसकी हथकड़ी लटक रही थी। किसी को उसके भागने का पता न चले इसलिए उसने तकिया बिछाकर ऊपर से कंबल डालकर डमी बना दी। जिससे लगे कि वह सो रहा है। पर उसके गायब होते ही बाहर सो रहे पुलिस कर्मियों की नींद उड़ गई।
घंटों तलाशा फिर पुलिस के पास पहुंचे
- छतरपुर पुलिस ने पहले अस्पताल परिसर, आसपास के बस स्टैंड सहित कई जगह उसे तलाश किया, लेकिन जब वह नहीं मिला तो शुक्रवार दोपहर कंपू थाना पुलिस के पास पहुंचकर मामले की सूचना दी। पुलिस ने तत्काल सभी थानों में पॉइंट अलर्ट किया और उसका फोटो वायरल कर दिया। इतना ही नहीं बंदी के भागने की शिकायत भी पुलिसकर्मी लक्ष्मण सिंह की शिकायत पर दर्ज कर ली है।
कहां से भागा पता नहीं चला
- कार्डियोलॉजी विभाग में एक ही दरवाजा है। आरोपी कब भाग गया यह पता नहीं चला है। 3 से 4 बजे के बीच में पुलिस कर्मियों की झपकी लग गई। जिसके बाद वह मुख्य दरवाजे से ही निकला है। अब पुलिस जेएएच में लगे CCTV कैमरे तलाश रही है। जिससे बंदी के भागने की कुछ स्थिति साफ हो सके कि वह भागा कैसे था।
पुलिस का कहना
इस मामले में CSP नागेन्द्र सिंह ने बताया कि छतरपुर से दुष्कर्म के आरोपी को लेकर वहां के ईसागढ़ थाना पुलिस जयारोग्य अस्पताल में आई थी। शुक्रवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच वह चकमा देकर भाग गया है। मामला दर्ज कर लिया है और भागने वाले आरोपी की तलाश की जा रही है।