पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Chain Was Tied In The Legs, Hinged At The Elbow Of The Hand For About Half A Kilometer And Reached The Fields Of Hingona Village

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंबल में डाकू‌‌!:झांसी के डाॅक्टर को किडनैप कर बीहड़ में लाए और जंजीर से पैर बांध सो गए डकैत; कोहनी के बल आधा किमी घिसटकर बचाई जान

ग्वालियर3 महीने पहलेलेखक: रामेंद्र परिहार
झांसी से अपहरण के बाद मुरैना में डकैतों की पकड़ से छूटा डॉक्टर अपने परिजन के साथ पुलिस के सामने पूरी कहानी सुनाता हुआ।
  • झांसी में एक दिन पहले कानपुर रोड से किया था अपहरण, शिवराज सरकार के चंबल से डकैतों के सफाये के दावों पर घटना ने खड़ा कर दिया सवाल
  • मुरैना के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में हिंगोना गांव पास हुआ मुक्त

उत्तर प्रदेश के झांसी से अगवा किए गए 62 वर्षीय डॉक्टर चंबल के बीहड़ (जंगल) में मिल गए। डॉक्टर को चित्रकूट के कुख्यात डकैत ददुआ के नाम पर अगवा किया गया। तीनों डकैत पहले ददुआ के नाती के इलाज की बात कहते रहे, लेकिन बाद में मामला फिरौती के लिए अपहरण का सामने आया। खुलासा हुआ है कि मुरैना में डकैतों को झपकी लगी। इसी बीच डॉक्टर बचकर जंगल से निकल आए। उनके पैरों में जंजीरें बांध रखी थीं, लेकिन डॉक्टर ने चतुराई से काम लिया। आधा किलोमीटर तक कोहनी के बल घिसटते हुए जंगल से निकलकर एक खेत तक पहुंचे। हिंगोना गांव में उन्होंने लोगों को पुकार कर मदद मांगी और घटना बताई। गांव वालों ने डायल 100 को सूचना कर पुलिस बुलाई गई। मुरैना की सिविल लाइंस पुलिस ने डॉक्टर को जंजीरों से मुक्त कर झांसी पुलिस को सूचना दी। झांसी पुलिस भी मुरैना आ गई है। हालांकि, कहा जा रहा है कि डॉक्टर ने लाखों रुपए की फिरौती दी है, उसके बाद उसे छोड़ा गया है। पुलिस जांच कर रही है।

उत्तर प्रदेश के झांसी निवासी 62 वर्षीय राधाकृष्ण गुरु बक्सानी जाने माने डॉक्टर हैं। शुक्रवार सुबह करीब 5.30 बजे मॉर्निंग वॉक पर जाते समय कानपुर रोड से कुछ हथियारबंद बदमाशों ने चार पहिया वाहन में अपहरण किया। बदमाश एक मरीज के परिजन बनकर इलाज के लिए डॉक्टर को ले जाने के बहाने आए थे। डॉक्टर के अपहरण की सूचना से झांसी में सनसनी फैल गई थी। झांसी पुलिस ने आसपास के शहर, जिलों व राज्यों में अलर्ट कर दिया। पुलिस की चौतरफा घेराबंदी के कारण ही अपहरण करने वालों ने मुख्य सड़क के बजाय जंगल का रास्ता चुना। शनिवार तड़के डकैत डॉक्टर के पैरों में जंजीर बांधकर जंगल में सुस्ताने लगे। इसी दौरान उनकी झपकी लग गई। मौके का फायदा उठाकर बुजुर्ग डॉक्टर ने पहले हाथ की कोहनी के बल पर घिसटना शुरू किया और गिरोह से करीब आधा किलोमीटर दूर आ गए। इससे बाद किसी तरह जंगल से बाहर निकले। जब वह जंगल से बाहर निकले, तो खेत के किनारे पहुंचे। यहां कुछ गांव के लोगों की उन पर नजर पड़ गई।

जब डॉक्टर ने पूछा कि वह कहां पर हैं अभी, तो गांव के लोगों ने बताया कि यह मध्य प्रदेश का मुरैना जिला है और इस समय वह हिंगोना गांव में हैं। इसके बाद गांव के लोगों ने डायल 100 को सूचना दी। डायल 100 मौके पर पहुंची और डॉक्टर को सिविल लाइंस थाना पहुंचाया।

फिरौती मांगने की थी साजिश

डॉक्टर ने मुरैना पुलिस को बताया कि उसका अपहरण करने वाले हथियारबंद डकैत हैं। उनकी संख्या 3 थी। पहले तो वह यह कह रहे थे कि किसी का इलाज कराने ले जा रहे हैं। बोले- उसका इलाज कराने के बाद छोड़ देंगे, लेकिन बीच में यह भी सुनाई पड़ा कि डॉक्टर काफी चर्चित है। इसके लिए तो एक से दो करोड़ रुपए तक भी मिल जाएंगे। असल मामला अपहरण और फिरौती है।

कौन है अपहरण करने वाला गैंग

अब मुरैना पुलिस पता लगा रही है कि डॉक्टर का अपहरण करने वाला गिरोह कौन है। साथ ही, ददुआ तो सिर्फ बहाना है, यह गैंग एमपी के मुरैना या राजस्थान के धौलपुर का लग रहा है। इसके बाद पुलिस और अलर्ट हो गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

और पढ़ें