• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Chief Minister Got Angry Over The Delay In The Construction Of One Stop Center, Instructions Were Given To The Executive Engineer For Notice

5 घंटे नगर में सीएम:वन स्टॉप सेंटर के निर्माण में देरी पर मुख्यमंत्री हुए नाराज, कार्यपालन यंत्री को नोटिस के दिए निर्देश

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रैन बसेरा, दीनदयाल रसोई, हाट बाजार, चौपाटी व जयारोग्य अस्पताल का मुख्यमंत्री ने किया निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
रैन बसेरा, दीनदयाल रसोई, हाट बाजार, चौपाटी व जयारोग्य अस्पताल का मुख्यमंत्री ने किया निरीक्षण।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जेएएच परिसर स्थित वन स्टॉप सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान भवन निर्माण में हो रही देरी पर नाराजगी व्यक्त की और पीआईयू के तत्कालीन कार्यपालन यंत्री को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि यदि जरूरी हो तो एजेंसी बदलकर जल्द से जल्द भवन का निर्माण पूरा कराएं।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां निवासरत महिलाओं से भी चर्चा की। जेएएच परिसर में बने वन स्टॉप सेंटर में रहने वाली बेटियों से मिलने पहुंचे। यहां एक युवती में मुख्यमंत्री से कहा मुझे अपने घर जाना है, जब मुख्यमंत्री ने उससे पूछा कि तुम्हारा घर कहां हैं तो वह बोली मुझे घर का पता नहीं मालूम। सीएम ने अफसरों को उसका पता तलाशने के निर्देश दिए।

सेवा भारती द्वारा जेएएच परिसर में संचालित जिला दिव्यांग पुर्नवास केंद्र पहुंचे। यहां उन्होंने जिला दिव्यांग पुर्नवास केंद्र का निरीक्षण किया। साथ ही यह भी जाना कि दिव्यांगों का इलाज कैसे होता है? मुख्यमंत्री देर से पहुंचे, लिहाजा उनसे बात करने के लिए सिर्फ दो दिव्यांग ही वहां बैठे थे। मुख्यमंत्री ने सेवा भारती द्वारा जेएएच परिसर में संचालित जिला दिव्यांग पुर्नवास केंद्र का भी निरीक्षण किया।

बच्चों को खिलाया, महिलाओं से पूछी आमदनी, चौपाटी पर खाई रसमलाई

दीनदयाल रसोई देखी

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बस स्टैंड स्थित रैन बसेरों में पहुंच गए। यहां की व्यवस्थाओं को देखकर सीएम ने रैन बसेरा में ठहरे लोगों से पूछा कि कोई लाया तो नहीं है। अपने आप ही आए हो। इस पर शिवपुरी और मुरैना के युवकों ने बताया कि नहीं हम तो परिजनों का इलाज कराने आए हैं। यहीं पर सीएम ने दीनदयाल रसोई में पहुंचकर खानपान व्यवस्था को देखा।

कड़कनाथ से लेकर सैनिटाइजर की पूछी बिक्री

हाट बाजार में सीएम सबसे पहले कड़कनाथ के स्टॉल पर पहुंचे। उन्होंने यहां मौजूद दीदियों से कड़कनाथ की बिक्री के बारे में पूछा। यहां दीदियों ने बताया कि बिल्हैटी में खेती करते हैं। हाट बाजार में देशी मशालों के स्टाल पर दीदियों ने मशालों का गिफ्ट दिया।

सिंधिया ने किया 20 मिनट तक वीडियो कांफ्रेंसिंग पर कार्यक्रम शुरू होने का इंतजार

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम से जुड़े थे। वे कार्यक्रम शुरू होने के काफी समय पहले ही वीसी के जरिए लोगों के सामने आ गए थे। तकरीबन 20 मिनट तक सिंधिया ने वीसी पर कार्यक्रम के शुरू होने का इंतजार किया। कार्यक्रम 6 बजे शुरू होना था लेकिन आधे घंटे बाद सीएम चौहान, केंद्रीय मंत्री तोमर व अन्य मंत्री कार्यक्रम में पहुंचे।

चौपाटी पर खाया मंचूरियन-पुलाव

सीएम फूलबाग चौपाटी पर पहुंचे। यहां पर सीएम को चौपाटी पसंद आई। उन्होंने यहां के दो स्टॉल पर अलग-अलग तरीके के व्यंजनों का स्वाद चखा। इसमें मंचुरियन पुलाव, स्प्रिंग रोल, फालूदा, चाउमीन आदि का स्वाद चखा। सीएम के साथ केंद्रीय मंत्री तोमर ने भी व्यंजनों का आनंद लिया।

महिलाएं खुद का काम कर रही हैं, ये आगे बढ़ रहीं है

सीएम ने हाट बाजार में मीडिया से बात करते हुए कहा कि यहां महिलाएं अच्छा काम कर खुद का रोजगार चला रही है। सरकार की भी यहीं मंशा है। निश्चित ही ये और आगे बढ़ेंगी। उन्होंने शहर में चल रहे प्रोजेक्ट के बारे में कहा कि आज मैं हाट बाजार सहित अन्य कामों के लिए आया हूं। शहर में चल रहे प्रोजेक्ट पर आगे बात करूंगा। फूलबाग चौपाटी पर पहुंचकर सीएम ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि चौपाटी काफी अच्छी बनी है। हमने हाथ ठेले वालों को दुकानें दी हैं। अब यहां लोग आराम से बैठकर परिवार के साथ सुरक्षित व्यंजनों का स्वाद ले सकते हैं।

कार्यक्रम की मुख्य झलकियां

  • प्रमाण पत्र बांटे- कार्यक्रम में बच्चियां रोईं तो सीएम ने सबसे पहले उनकी माताओं को बुलाकर लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण पत्र वितरित किए। अधिकारियों से उन्हें घर तक पहुंचाने को कहा।
  • नियुक्ति में भेदभाव- हाईकोर्ट की कुछ महिला वकीलों ने सीएम को घेर लिया और बोली कि सरकारी वकीलों की नियुक्ति में भेदभाव होता है। 40 वकीलों के पैनल में सिर्फ एक सीट महिला वकील की रखी गई है।
  • छात्रों को पुलिस ने पकड़ा- कार्यक्रम के दौरान कुछ छात्र सभी विषयों की परीक्षा ऑनलाइन कराने की मांग लेकर ज्ञापन देने पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने इन छात्रों को सीएम से मिलने से पहले ही पकड़ लिया।
  • गहोई सेवा संस्थान और सेवा भाव समिति के कार्य को सराहा- सीएम को जब यह पता चला कि मरीजों और उसके परिजनों के लिए गहोई सेवा संस्थान एवं सेवा भाव समिति नि:शुल्क भोजन उपलब्ध कराती है तो सीएम से रहा नहीं गया और वह पैदल ही वहां पहुंचे गए।
  • सीएम ने ऊर्जा मंत्री को बताया वन एंड ऑल- सीएम ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को लेकर कहा कि मेरी कैबिनेट के ये मंत्री वन एंड ऑल हैं। ये अपने काम के साथ बाकी काम भी करने लगते हैं। इनका जवाब नहीं है।
  • हिंदू महासभा ने ऑफिस पर काले झंडे लगाए- अखिल भारत हिंदू महासभा ने मुख्यमंत्री के शहर आगमन के विरोध में दौलतगंज स्थित कार्यालय पर काले झंडे लगाकर विरोध जताया।
खबरें और भी हैं...