• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The City Covered With A Sheet Of Fog, Visibility Was Reduced To Only 50 Meters, The Headlights Had To Be Lit On The Roads Even During The Day

मौसम: बारिश के बाद कोहरा छाया:शहर ने ओढ़ी कोहरे की चादर, सिर्फ 50 मीटर दृश्यता, सड़कों पर दिन में भी जलानी पड़ी हेड लाइट्स

ग्वालियर4 महीने पहले
शुक्रवार सुबह इस तरह रहा शहर की सड़कों पर कोहरा

24 घंटे लगातार रिमझिम के बाद शुक्रवार सुबह की शुरूआत घने कोहरे से हुई है। शहर ने आधी रात के बाद से ही घने कोहरे की चादर ओढ़ ली थी। सुबह यह कोहरा इतना घना था कि 50 मीटर दूर भी ठीक से दिखाई नहीं दे रहा था। जिस कारण दिन में ही गाड़ियों की हेड लाइट्स जलानी पड़ी हैं। बारिश और बादल के कारण शहर में ठंड ने रात-दिन एक जैसे कर दिए हैं। लोगों को जितनी ठंड रात में लगी, उतनी ही दिन में महसूस हुई है। झमाझम बारिश से गुरुवार को दिन का मौसम बिगड़ गया था। दिन में धूप नहीं निकलने से अधिकतम तापमान में 8.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई और 14.1 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। गुरुवार को ग्वालियर का दिन प्रदेश में सबसे ठंडा रहा था। शुक्रवार को रात मंे न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री सेल्सियस रहा है। दिन और रात के पारे में 1.5 डिग्री सेल्सियस का अंतर ही दर्ज किया गया है। गुरुवार से शुक्रवार सुबह तक 27.2 MM (मिलीमीटर) बारिश दर्ज हुई, जिससे सड़कों पर जलभराव हो गया है।

इस कड़ाके की ठंड में अलाव ही सहारा
इस कड़ाके की ठंड में अलाव ही सहारा

कोहरे से थमी दिन की रफ्तार
- गुरुवार को बारिश के बाद शुक्रवार को छाए घने कोहरे के कारण शहरवासियों की दिनचर्या प्रभावित हो गई। गुरुवार बारिश ऐसे समय शुरू हुई, जब लोगों के ऑफिस जाने का समय रहा। दिनभर रुक-रुककर बारिश जारी रही। सड़कों पर अन्य दिनों की तरह लोगों की भीड़ कम रही। इसके बाद शुक्रवार को शहर में घना कोहरा छाया रहा और इस कारण देर से लोगों की सुबह हुई। ठंड के कारण लोग अलाव से ताप लेते नजर आए।
5 साल में पहली बार पहले सप्ताह में मावठ
इस साल की मावठ फसलों के लिए अमृत बनकर बरसी है, क्योंकि जनवरी के पहले सप्ताह में दलहन-तिलहन सहित गेहूं, चना की फसल को पानी की काफी जरूरत होती है। वर्ष 2006 से अब तक का रिकार्ड देखें तो जनवरी के तीसरे सप्ताह में बारिश होती थी, लेकिन इस बार पहले सप्ताह में बारिश हुई है। ऐसा पांच साल बाद हुआ है।
घंटों बिजली रही गुल
- गुरुवार दिन भर बारिश और शुक्रवार सुबह से घना कोहरा छाने और बादल के बाद घंटों बिजली गुल रही है। गुरुवार को दिन भर शहर के कई क्षेत्रों मंे बिजली सप्लाई प्रभावित हुई है। मुरार, लश्कर व ग्वालियर मंे सैकड़ों शिकायत बिजली फॉल्ट की रही हैं। शुक्रवार सुबह से भी मुरार व हजीरा के कई इलाकों में बिजली नहीं होने से लोग परेशान हुए हैं। हां बारिश होने से बिजली विभाग को राहत मिली है। देहात मंे खेत पानी से लबालब हैं और ऐसे में पानी देने के लिए दी जाने वाली बिजली की बचत हो गई है।
बीते 4 साल में जनवरी में बारिश की स्थिति
वर्ष तारीख बारिश

2022 6 27.2 MM
2021 3 7 MM
2020 16 40.9MM
2019 22 2.2 MM

आगे ऐसा रहेगा मौसम
-मौसम विभाग की माने तो आगे मौसम अभी 24 से 48 घंटे तक ऐसा ही रहने वाला है। आसमान में बादल छाए रहेंगे। साथ ही शुक्रवार को भी बारिश हो सकती है। बादल होने से रात होते ही कोहरा छाएगा और सुबह के समय यह काफी घना होगा। जिससे जनजीवन अस्त व्यस्त रहेगा।
- 10 जनवरी के बाद ठंड फिर से बढ़ेगी, क्योंकि अभी जो चक्रवात बने हैं उनका असर खत्म हो जाएगा और बादल छटने के साथ ही धूप निकलेगी और हवा चलने से रात की ठंड बढ़ेगी।