पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Dead Bodies Of Husband, Wife And Adopted Daughter Were Found Lying In The House, The Locks Were Broken, At Present The Police Is Considering It As Murder.

ग्वालियर में ट्रिपल मर्डर:घर के एक कमरे में मिली पति, पत्नी, 13 साल की बेटी की लाश; बाप-बेटी को गला दबाकर और मां को चाकू से मारा, प्रॉपर्टी को लेकर हत्या की आशंका

ग्वालियर14 दिन पहले
मृतक जगदीश, सरोज और गोद में बेटी कीर्ति उर्फ कृति, यह फोटो करीब 9 साल पुराना कीर्ति के बर्थ डे का है।

ग्वालियर के मुरार में सोमवार दोपहर एक घर में 3 परिजनों के शव मिलने से सनसनी फैल गई। यहां कमरे में पति, पत्नी और उनकी 13 साल की बेटी की लाश पड़ी मिली। पुलिस के मुताबिक प्रॉपर्टी विवाद की वजह से हत्या की आशंका है। पड़ोस में रहने वाली महिला जब उनके घर आई तो तिहरे हत्याकांड का खुलासा हुआ। चेहरे काले पड़ने के साथ ही तीनों बॉडी सड़ने लगी थी। शुरुआती जांच में पता चला है कि पिता और बेटी की गला दबा कर जबकि महिला की चाकू मारकर हत्या की गई है। शव दो दिन पुराने बताए जा रहे हैं।

जगदीश पाल (60), उनकी पत्नी सरोज पाल (55) और उनकी बेटी कृति उर्फ कीर्ति पाल (13) उपनगर मुरार के अल्पना टॉकीज तिकोनिया में रहते थे। पड़ोस की मालती पाल के घर कृति उनके बच्चों को खिलाने जाती थी, लेकिन शनिवार से वह नहीं गई। इसलिए सोमवार दोपहर मालती, कृति को देखने के लिए उसके घर पहुंची। यहां दरवाजे खुले मिले। अंदर जाकर देखा तो बेड पर सरोज और नीचे कृति और जगदीश पाल के शव पड़े थे। पुलिस को फौरन सूचना दी गई। SP ग्वालियर अमित सांघी, ASP राजेश डंडौतिया भी मौके पर पहुंचे। एक्सपर्ट साइंटिस्ट अखिलेश भार्गव सहित फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डॉग स्क्वॉड ने भी मौके से सबूत जुटाए हैं।

फोरेंसिक एक्सपर्ट ने की घटना स्थल की जांच
फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया है। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि बेटी और पिता की हत्या गला घोंटने से की गई है, जबकि महिला के पेट पर चाकू के घाव हैं। इसके साथ ही पुलिस ने सीन को रीक्रिएट किया है। माना जा रहा है कि पहले बच्ची फिर जगदीश पाल की हत्या की गई है। इसी समय सरोज के विरोध करने पर उसे मारा गया है।

घटनास्थल के बाहर पड़ोसियों से पूछताछ करते एएसपी राजेश डंडौतिया।
घटनास्थल के बाहर पड़ोसियों से पूछताछ करते एएसपी राजेश डंडौतिया।

भयावह था कमरे का नजारा
पुलिस ने जब कमरे में कदम रखा तो पाया कि सरोज की डेड बॉडी बिस्तर पर पड़ी थी। बेटी कीर्ति का शव जमीन पर पड़ा था। जगदीश दिख नहीं रहे थे, पर जब आसपास देखा, तो उनका शव भी बेड के नीचे जमीन पर मिला।

प्रॉपर्टी को कारण मान रही पुलिस
जगदीश के परिवार में एक भाई लक्ष्मीनारायण है। जगदीश पाल और सरोज के बच्चा नहीं था। जिस मकान में वह रहते हैं, उसका कोई वारिस न होने पर प्रॉपर्टी पर रिश्तेदारों की नजर थी। जगदीश ने कुछ समय पहले साले राजेन्द्र पाल की बेटी कीर्ति उर्फ कृति को गोद लिया था। उनके बाद मकान उसी के नाम होना था। जिस जगह यह घर है, वह बीच बाजार में है, इसलिए भी पुलिस को शक है कि प्रॉपर्टी के लिए हत्या की गई है। जगदीश के घर के ताले तो टूटे मिले हैं, लेकिन लूट, चोरी जैसा कुछ भी नहीं हुआ है।

किराए से चलता था खर्चा
पड़ताल में पता चला है कि जगदीश पाल कुछ साल पहले तक वेल्डिंग का काम करते थे, लेकिन उसके बाद स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। उसने कई साल से काम धंधा छोड़ दिया था। अभी वह ठीक से चल भी नहीं पाते थे। पत्नी सरोज की उम्र हो चली थी। घर के नीचे दुकानें हैं। उन्हें किराए पर दे रखा था, जिससे घर का खर्च चला रहे थे। गांव में कुछ जमीन का पता लगा है। पुलिस पड़ताल कर रही है।

कमरे में पड़े तीनों शव, महिला सरोज बेड पर है, उसके नीचे बेटी कृति और पीछे पति जगदीश पाल की लाश पड़ी थी।
कमरे में पड़े तीनों शव, महिला सरोज बेड पर है, उसके नीचे बेटी कृति और पीछे पति जगदीश पाल की लाश पड़ी थी।

वारदात शनिवार रात या रविवार दोपहर में हुई
जगदीश ज्यादातर समय घर के दरवाजे पर बैठे दिखते थे। अक्सर 100 मीटर के एरिया में वॉकिंग करते नजर आते थे, लेकिन शनिवार शाम से उनको किसी ने नहीं देखा था। जिस अवस्था में शव मिले हैं उससे आशंका है कि शनिवार रात या रविवार दोपहर वारदात को अंजाम दिया गया है।

एएसपी राजेश डंडौतिया ने बताया कि लूट चोरी का एंगल समझ नहीं आया है। प्रॉपर्टी को लेकर हत्या माना जा रहा है। पुलिस सीन रीक्रिएट कर पड़ताल कर रही है।

खबरें और भी हैं...