पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Driver Of Janani Express Risked Many Lives For Just A Few Rupees, Took A Ride To Sheopur In An Ambulance

एम्बुलेंस में संक्रमण का सफर:जननी एक्सप्रेस के चालक ने कोरोना संदिग्ध महिला को ग्वालियर छोड़ा, गाड़ी को बिना सैनिटाइज किए 200-200 रु. में श्योपुर के लिए बैठा ली सवारियां

ग्वालियर2 महीने पहले
एम्बुलेंस के साथ पकड़ा गया चालक।
  • फूलबाग पर पुलिस ने पकड़ी एम्बुलेंस, बैठे मिले लोग

ग्वालियर में एक व्यक्ति ने चंद रुपयों के खातिर लोगों की जान को खतरे में डाल दिया। श्योपुर से कोरोना संदिग्ध महिला को लेकर आई जननी एक्सप्रेस के चालक ने लौटते समय एम्बुलेंस को सैनिटाइज किए बिना ही सवारियां भर लीं। वह श्योपुर के लिए निकल भी गया था। इससे पहले फूलबाग पर पुलिस ने चेकिंग के दौरान उसे पकड़ लिया।

पुलिस को देखते ही एम्बुलेंस में बैठे लोग भाग गए। दो सवारियों को पुलिस ने पकड़ लिया। घटना शुक्रवार दोपहर 3 बजे की है। पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। स्वास्थ्य विभाग ने मौके पर पहुंचकर जननी एक्सप्रेस को निगरानी में लिया। चालक को हटाने के लिए भोपाल एम्बुलेंस विभाग में अनुशंसा कर दी है। साथ ही, चालक और सवारियों की सैंपलिंग भी की जाएगी।

जननी एक्सप्रेस में मिली सवारी और शहर में बिना वजह घूमने वालों को सैंपल के लिए भेजा
जननी एक्सप्रेस में मिली सवारी और शहर में बिना वजह घूमने वालों को सैंपल के लिए भेजा

श्योपुर निवासी महेन्द्र पचौरी स्वास्थ्य विभाग में लगी जननी एक्सप्रेस एम्बुलेंस का चालक है। शुक्रवार सुबह वह श्योपुर से महिला पेशेंट को लेकर JAH (जयारोग्य अस्प्ताल) के KRH में आया था। जिस पेशेंट को लेकर वह आया था, वह गर्भवती थी। साथ ही, कोविड संदिग्ध भी थी, क्योंकि उसे सर्दी-खांसी थी।

पेशेंट को उतारने के बाद उसने एम्बुलेंस नंबर MP30 BC-1068 को सैनिटाइज करना मुनासिब नहीं समझा। वह ग्वालियर बस स्टैंड पहुंच गया। यहां बसें नहीं चलने पर काफी लोग वाहनों की तलाश में थे। यहां से 200-200 रुपए में उसने श्योपुर के लिए करीब 5 सवारी बैठा लीं। गाड़ी को श्योपुर के लिए ले जाने लगा। वह फूलबाग पहुंचा ही था, पुलिस ने एम्बुलेंस के सामने बैरीकेड्स लगा दिए। पुलिस को देखते ही एम्बुलेंस में से 3 लोग उतरकर भाग गए।

चालक व दो सवार ऑन स्पॉट पकड़े गए। पूछताछ में पहले चालक उन्हें रिश्तेदार बताता रहा, लेकिन बाद में खुलासा हुआ कि वह सवारी ही थीं। पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग को मामले की सूचना दी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जनसंपर्क अधिकारी आईपी निवारिया पहुंच गए। उन्होंने भोपाल और श्योपुर में विभाग से बात कर जननी एक्सप्रेस के चालक पर एक्शन लेने की सिफारिश की है।

कितनों को फैलाता संक्रमण

यदि जिस महिला को जननी एक्सप्रेस में वह लेकर आया था, वह कोविड संक्रमित निकली, तो चालक ने कितने के लोगों की जान को खतरे में डाल दिया है। कुछ रुपयों के लालच में वह लोगों की मजबूरियों का फायदा उठाकर उन्हें सवारी बनाकर खतरे में डाल रहा था।

बस ट्रेन बंद होने से बढ़ी परेशानी

जब से परिवहन विभाग ने यूपी के लिए बसें बंद की हैं। बस स्टैंड पर परेशानी खड़ी हो गई है। आगरा, झांसी की ओर जाने वाली 50 फीसदी बसें बंद हो गई हैं। जिस कारण लोगों को परेशानी हो रही है। साथ ही, काफी संख्या में ट्रेनें भी रद्द चल रही हैं। ऐसे लोगों का यह एम्बुलेंस वाले फायदा उठा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...