• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Four day Provincial Swar Sadhak Sangam (Ghosh Shivir) Of Madhya Bharat Province Of RSS Will Begin With The Launch Of The Yatra Exhibition, There Will Be A Movement Of Posts.

26 नवंबर को आएंगे सरसंघचालक मोहन भागवत:RSS के मध्यभारत प्रांत के 4 दिवसीय प्रांतीय स्वर साधक संगम की शुरुआत यात्रा प्रदर्शनी से होगी

ग्वालियर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्वर साधक संगम के लिए तैयार मं� - Dainik Bhaskar
स्वर साधक संगम के लिए तैयार मं�

ग्वालियर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मध्यभारत प्रांत का चार दिवसीय प्रांतीय स्वर साधक संगम (घोष शिविर) का शुभारंभ गुरुवार सुबह सरस्वती शिशुमंदिर केदारधाम परिसर शिवपुरी लिंक रोड पर किया जाएगा। घोष की ऐतिहासिक यात्रा को लेकर लगाई गई प्रदर्शनी का भी उद्घाटन होगा।

कार्यक्रम के शुभारंभ पर अतिथि के रूप में मध्य भारत प्रांत के संघचालक अशोक पांडे एवं राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. साहित्य कुमार नाहर मौजूद रहेंगे। इस चार दिवसीय संगम में RSS के सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत का मार्गदर्शन भी मिलेगा। डॉ. मोहन भागवत 26 नवंबर (शुक्रवार) की शाम ग्वालियर पहुंचेंगे। 28 नवंबर की शाम तक वह ग्वालियर में रहेंगे। RSS प्रमुख के आने से सुरक्षा व्यवस्था अलर्ट मोड पर है।

कार्यक्रम स्थल पर इस तरह की प्रदर्शन लगाई गई है
कार्यक्रम स्थल पर इस तरह की प्रदर्शन लगाई गई है

घोष वादक करेंगे वाद्य यंत्रों का प्रदर्शन
ग्वालियर विभाग संघचालक विजय गुप्ता ने बताया कि स्वर साधक संगम में मध्य भारत प्रांत के 31 जिलों के 550 से अधिक घोषवादक भाग लेंगे। गुरूवार को सुबह 10ः30 बजे ऐतिहासिक प्रदर्शनी के उदघाटन के साथ स्वर साधक संगम का शुभारंभ हो जाएगा। यहां पर लगी प्रदर्शनी में चार श्रेणियां होंगी, जिसमें परम्परागत एवं प्राचीन वाद्य यंत्रों का प्रत्यक्ष रूप से प्रदर्शन होगा। इस ऐतिहासिक प्रदर्शनी में घोष की इतिहास यात्रा को LED TV के माध्यम से डिजिटल प्रदर्शन किया जाएगा। यह प्रदर्शनी 25 से 28 नवंबर तक चलेगी, जो आमजन के लिए खुली रहेगी। चार दिन तक चलने वाले इस शिविर का समापन 28 नवंबर को होगा।

तीन दिन ग्वालियर में रहेंगे डाॅ. भागवत
विभाग संघचालक गुप्ता ने बताया कि राष्ट्रीव स्वंयसेवक संघ के सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत 26 नवंबर की शाम ट्रेन से ग्वालियर आएंगे और 28 नवंबर तक शिविर में रहेंगे। इस शिविर में अखिल भारतीय शारीरिक प्रमुख सुनील कुलकर्णी तथा अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख जगदीश पूरे समय रहेंगे। 28 नवंबर की शाम डॉ. मोहन भागवत मीडिया से बात कर सकते हैं।

कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों को अंतिम रूप देते कार्यकर्ता।
कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों को अंतिम रूप देते कार्यकर्ता।

दुल्हन की तरह सजा केदारधाम
स्वर साधक संगम शिविर की तैयारियां पिछले कई दिनों से जारी है। परिसर को भारतीय परिवेश के अनुरूप सजाया-संवारा गया है। यहां पर जगह-जगह रंगोलियां बनाई गई हैं। साथ ही दूधिया रोशनी की गई है। इसके अलावा स्वागत द्वार, बौधिक कक्ष आदि भी बनाए गए हैं।

एक कार्यक्रम जेयू सभागार में भी प्रस्तावित
RSS प्रमुख डॉ. मोहन भागवत का संगम के अलावा एक अतिरिक्त कार्यक्रम JU सभागार में भी प्रस्तावित है। संघ परंपरा है कि सरसंघ संचालक जिस स्थान पर प्रवास पर रहता है, वहां कई संगठनात्मक गतिविधियां भी संचालित होती हैं । इन को दृष्टिगत रखते हुए उनकी सुरक्षा में तैनात बल के अधिकारियों ने मौका मुआयना पूर्ण कर लिया है। सुरक्षा की रणनीति भी तय कर ली है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत को शीर्ष जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय परिसर में ठहरेंगे मोहन भागवत
सर संघ संचालक डॉ. मोहन भागवत 26 से 28 नवंबर तक ग्वालियर में ही रहेंगे। इस दाैरान वह शिवपुरी लिंक राेड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय परिसर में ही ठहरेंगे। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने प्रोटोकॉल ऑफिसर SDM सीबी प्रसाद को VIP मूवमेंट को देखते हुए सभी रेस्ट हाउस रिजर्व पर रखने के निर्देश दिए हैं साथ ही निगम को साफ-सफाई की व्यवस्था को चाक-चौबंद करने को निर्देशित किया गया है। SDM सीबी प्रसाद ने बताया कि एंबुलेंस सहित 10 से अधिक वाहनों का इंतजाम सरसंघचालक की Z प्लस सुरक्षा व्यवस्था के लिए किया जाएगा।

हाइवे से लेकर शहर तक चप्पे-चप्पे पर रहेगी पुलिस
Z श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त डॉ. मोहन भागवत को आने से पहले ही ग्वालियर एसपी अमित सांघी ने सुरक्षा व्यवसथा पर अफसराें को कस दिया है। हाइवे से लेकर शहर तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस रहेगी। हाइवे से संदिग्ध वाहनों को अंदर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। शहर में लगातार चेकिंग चलेगी। साथ ही कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा डी बनाई जा रही है। डॉ. मोहन भागवत तक चयनित लोग ही पहुंच पाएंगे। जिसकी सूची तैयार हो गई है। पूरे शहर में सुरक्षा व्यवस्था में 500 से ज्यादा जवान और अफसर लगाए गए हैं।

खबरें और भी हैं...