• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Hindu Mahasabha's Warning Will No Longer Tolerate The Humiliation Of The Revolutionaries, The Lock Will Open In Any Case, Have Also Written Letters To The Prime Minister With Blood

सावरकर पर हिमस ने संघ प्रमुख को लिखा पत्र...:हिंदू महासभा की चेतावनी अब सहन नहीं होगा क्रांतिकारियों का अपमान, हर हालत में ताला खुलेगा, प्रधानमंत्री को भी लिख चुके हैं खून से पत्र

ग्वालियर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संघ प्रमुख मोहन भगवान को  लिखा पत्र। - Dainik Bhaskar
संघ प्रमुख मोहन भगवान को लिखा पत्र।
  • हिन्दू महासभा ने स्मार्ट सिटी पर चस्पा किया है संदेश पत्रक

विनायक दामोदर वीर सावरकर को लेकर अब हिंदू महासभा आरपार के मूड में आ गई है। वीर सावरकर की प्रतिमा कटोराताल में 3 साल से ताले में बंद है। यहां स्मार्ट सिटी ने ताला लगाया हुआ है। कई बार मांग करने के बाद भी ताला नहीं खोला जा रहा है।

इस बार हिमस अब आक्रामक तेवर में आ गई है। 28 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हिमस ने अपने खून से लिखी चिट्‌ठी भेजी है। अब संघ प्रमुख मोहन भागवत को भी पत्र लिखकर क्रांतिकारी हिंदूवादी वीर सावरकर के अपमान से अवगत कराया है। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने चेतावनी दी है कि अब क्रांतिकारी का अपमान सहन नहीं होगा। 12 नवंबर को हर हालत में वीर सावरकर पर लगा ताला खुलेगा। इसके लिए वह स्मार्ट सिटी के भवन पर एक पत्र भी चस्पा कर चुके हैं। 10 नवंबर तक हर हालत में ताला खोलने की चेतावनी दी है।

तीन दिन पहले स्मार्ट सिटी के भवन पर चेतावनी पत्र किया था चस्पा
तीन दिन पहले स्मार्ट सिटी के भवन पर चेतावनी पत्र किया था चस्पा

यह है पूरा विवाद
अभी तक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारों नाथूराम गोड़से और नारायण आप्टे की प्रतिमा और मंदिर को लेकर चर्चाओं में रहने वाली हिंदू महासभा ने अब स्वतंत्रवीर विनायक दामोदर सावरकर जिनको वीर सावरकर नाम से भी जाना जाता है को लेकर नया आंदोलन शुरू कर दिया है। शहर में वीर सावरकर की प्रतिमा थीम रोड पर कटोराताल के अंदर बनी है। कटोरा ताल का जीर्णोदार होना है। इसलिए यह प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटी के हाथ में है। यही कारण है कि बीते 3 साल से वीर सावरकर प्रतिमा ताले में बंद हैं। ऐसे महान और हिंदू वादी विचारधारा के कट्‌टर समर्थक वीर सावरकर के तीन साल में जयंती और पुन्यतिथि कई बार निकल गईं, लेकिन ताला होने के कारण हिमस उनको पुष्पांजलि भी नहीं दे पाती है। इसलिए अब हिंदू महासभा आरपार के मूड में है। यही कारण है कि हिंदू महासभा ने स्मार्ट सिटी को 10 नवंबर तक का अल्टीमेटम दिया है। इसके बाद भी वह ताला नहीं खोलते हैं तो 12 नवंबर को हिमस के कार्यकर्ता एकत्रित होकर अपने स्वतंत्रवीर सावरकर को आजाद कराएंगे।
प्रधानमंत्री मोदी और संघ प्रमुख मोहन भागवत को लिखा पत्र
- वीर सावरकर को लेकर हिंदू महासभा आरपार के मूड में है। हिंदू महासभा ने स्मार्ट सिटी पर चेतावनी पत्र चस्पा कर दिए हैं। इसके अलावा केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह व ज्योतिरादित्य सिंधिया से मांग करने के बाद भी कोई मदद नहीं मिली तो 28 अक्टूबर को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने खून से पत्र लिखा है। इतना ही नहीं दीपावली पर हिमस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को भी पत्र लिखकर इस संबंध मंे ध्यान देने के लिए कहा है।
अब सहन नहीं होगा अपमान
- हिमस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने कहा है कि अब क्रांतिकारी वीर सावरकर का अपमान सहन नहीं होगा। अब 10 नवंबर तक स्मार्ट सिटी या जिला प्रशासन कोई फैसला नहीं लेता है तो हम खुद ताला खोल देंगे। क्योंकि वीर सावरकर तीन साल से ताले में बंद हैं और यह हमसे सहन नहीं होगा

खबरें और भी हैं...