• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Hospital Operator Is Unable To Write The Spellings Of Remedisvir, But The Master Is In Black Marketing, Savvy In The IPL And Is Fond Of Call Girls

कोरोना मरीजों के लिए 14 इंजेक्शन मिले, 10 बेच दिए:अस्पताल संचालक निकला रेमडेसिविर की कालाबाजारी का सरगना; IPL में सट्‌टा और कॉलगर्ल बुलाने का भी आरोप

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मामले का खुलासा करते एसपी। - Dainik Bhaskar
मामले का खुलासा करते एसपी।

क्राइम ब्रांच द्वारा पकड़े गए रेमडेसिविर इंजेक्शन के दलाल मैक्स केयर हॉस्पिटल के संचालक व उसके दो साथियों को गुरुवार रात को गिरफ्तार किया था। इनको रिमांड पर लेने के बाद कई खुलासे हुए हैं। जिला प्रशासन से मैक्स केयर हॉस्पिटल को 14 रेमडेसिविर दिए गए। इनमें मरीजों को सिर्फ 4 लगाए गए हैं। मरीजों के नाम पर लिए गए 10 इंजेक्शन को उन्होंने 18-18 हजार में बेचा है। ढंग से रेमडेसिविर इंजेक्शन की स्पैलिंग तक नहीं आई। हॉस्पिटल में कॉलगर्ल बुलाने का भी खुलासा हुआ है।

यह है पूरा मामला

गुरुवार को DSP क्राइम ब्रांच विजय सिंह भदौरिया के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की टीम ने झांसी रोड इलाके के सखिया विलास में मैक्स केयर हॉस्पीटल संचलित करने वाले रवि रजक और उसके साथी सोनू माथुर (जाटव), मोहसिन खान को गिरफ्तार किया है। इन तीनों को क्राइम ब्रांच ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते रंगे हाथ पकड़ा था। चार दिन से क्राइम ब्रांच की टीम इन पर निगरानी रख रही थी। जैसे ही, उन्होंने 2 इंजेक्शन 35 हजार रुपए में बेचने डील की और इंजेक्शन देने आ गए। तीनों को तत्काल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इनमें रवि पर मामला दर्ज है। क्राइम बांच ने इन तीनों पर आपदा प्रबंधन अधिनियम , महामारी की, आवश्यक वस्तू अधिनियम की धारा, मध्यप्रदेश ड्रग कंट्रोल एक्ट के तहत FIR दर्ज की है।

14 इंजेक्शन मिले, 10 बेच दिए

जिला प्रशासन से मैक्स केयर हॉस्पिटल के नाम पर अब तक 14 इंजेक्शन जारी हो चुके हैं। इनके पकड़े जाने के बाद जब रिकॉर्ड खंगाले और पूछताछ की तो यह 8 इंजेक्शन को बेच चुके हैं और दो इंजेक्शन बेचने क्राइम ब्रांच से डील की थी। हर एक इंजेक्शन 18 हजार रुपए में बेचा गया है। न जाने इन इंजेक्शन के न लगने पर कितने मरीजों की मौत तक हो गई होगी।

हॉस्पिटल में बुलाते थे कॉलगर्ल, IPL में लगाते थे सट्‌टा

हॉस्पिटल का संचालक और उसके साथी IPL पर सट्‌टा लगाने और अय्याशी करने में माहिर थे। कई बार हॉस्पिटल में ही कॉलगर्ल बुला चुके हैं। हॉस्पिटल में एक अलग से रूम अपनी अय्याशी के लिए बना रखा था। साथ ही अस्पताल में लड़कियों के आने पर किसी को संदेह नहीं होता था।

रासुका के लिए प्रस्ताव भेजा

पहले ही प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा कह चुके हैं कि आपदा में कालाबाजारी करने वालों पर रासुका लगाई जाए। इस पर पुलिस ने तीनों आरोपियों पर रासुका ( राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत कार्रवाई करने का प्रस्ताव बनाकर कलेक्टर ग्वालियर को भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...