• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The House Of The Imprisoned Miscreant Bally Kamariya Was Razed, The Family Said Got Punishment For Raising Voice Against The District Administration

सालों से था कब्जा, हटाने में लगे सिर्फ 20 मिनट...:जेल में बंद बदमाश बल्ली कमरिया के मकान को किया जमींदोज, परिजन बोले- जिला प्रशासन के खिलाफ आवाज उठाने की सजा मिली

ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
JCB मशीन अवैध मकान को तोड़ते हुए - Dainik Bhaskar
JCB मशीन अवैध मकान को तोड़ते हुए
  • गंगामालनपुर पुरानी छावनी में 3 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन को कराया अतिक्रमण मुक्त

ग्वालियर में बुधवार दोपहर जिला प्रशासन और मदाखलत की टीम ने पुरानी छावनी गंगा मालनपुर में भू माफिया बल्ली कमरिया के अवैध मकान को जमींदोज कर दिया है। इस जमीन पर सालों से उसका कब्जा था पर प्रशासन को उसे हटाने में सिर्फ 20 मिनट लगे। JCB का पंजा चला और अवैध मकान को ढहा दिया गया। मकान मालिक बल्ली कमरिया पर आरोप है कि उसने सरकारी जमीन पर कब्जा कर मकान बनाया है।

अभी वह जेल में हैं। कुल मुक्त कराई गई भूमि 3000 स्क्वॉयर फीट है। जिस पर बने मकान की कीमत 75 लाख रुपए बताई जा रही है। जबकि बल्ली के परिजन का आरोप है कि जिला प्रशासन के अफसर, तहसीलदार व पटवारी मिलकर तालाब की सरकारी जमीन पर प्लाट कटवा रहे हैं। जिसकी शिकायत करने पर उन्हें टारगेट किया गया है।

अतिक्रमण हटाने के दौरान तोड़े गए मकान का सामान बाहर मैदान में पड़ा हुआ
अतिक्रमण हटाने के दौरान तोड़े गए मकान का सामान बाहर मैदान में पड़ा हुआ

जिला प्रशासन की टीम ने पुरानी छावनी गंगा मालनपुर इलाके में बने एक मकान को जमींदोज कर दिया। आरोप है कि यह मकान भू माफिया व बदमाश बल्ली कमरिया ने इसे सरकारी जमीन पर बनाया था। 3 हजार स्क्वायर फीट में बने इस मकान की कीमत करीब 75 लाख रुपये थी। बल्ली कमरिया पर 12 अपराधिक मामले दर्ज हैं और अभी एक गिरफ्तारी वारंट में पकड़े जाने के बाद वह जेल में बंद है। गांव गंगा मालनपुर के शासकीय सर्वे क्रमांक 751 की भूमि रास्ते के लिए है। बल्ली ने उसी पर कब्जा कर यह मकान तान दिया था। इस अतिक्रमण के संबंध में न्यायालय में भी मामला चल रहा है। बुधवार दोपहर को SDM प्रदीप तोमर के नेतृत्व में तहसीलदार, पटवारी व मदाखलत के अमला गंगामालनपुर पहुंचा। यहां हंगामे के आसार देखते हुए पहले से ही काफी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद था। पुलिस की गांव में उपस्थिति को देखते हुए गांव के लोगों को आभास हो गया था आज कुछ न कुछ होने वाला है। दोपहर में जिला प्रशासन की टीम पहुंची और बल्ली के परिजन को तत्काल घर खाली करने की चेतावनी दी। गांव के लोग और बल्ली के परिजन ने हंगामा मचाने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस फोर्स को देखकर मंसूबे में कामयाब नहीं हो सके।
बल्ली के परिजन का आरोप
- इस कार्रवाई पर बल्ली के भाई सोनू कमरिया का कहना है कि उन्होंने शासकीय अमले की मिलीभगत से तालाब की जमीन पर काटी जा रही कॉलोनी के खिलाफ हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी। जिसके कारण उनके मकान को टारगेट किया गया है। परिजन का यह भी आरोप है कि SDM, तहसील, पटवारी आदि सभी ने मिलकर तालाब के किनारे की जमीन को प्लाट बनाकर बेच दिया है। इसकी शिकायत करने के चलते बल्ली कमरिया को प्रशासन ने टारगेट किया है।

जिला प्रशासन का कहना

प्रशासन का कहना है कि यह सरकारी जमीन पर बना हुआ था वहीं प्रशासन ने विवादित जमीन पर प्लॉट काटे जाने के मामले में कहा है कि वहां पहले ही प्लॉट की बिक्री पर रोक लगा दी गई है इसका नोटिस भी उक्त विवादित जमीन पर चस्पा किया गया है।

खबरें और भी हैं...