पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The Task Force Did Not Meet For 4 Months To Formulate A Strategy To Deal With Corona, No Action Was Taken Against Those Who Broke The Kovid Rules.

टास्क फोर्स:कोरोना से निपटने की रणनीति बनाने के लिए टास्क फोर्स की बैठक 4 माह से नहीं हुई, कोविड नियमों को तोड़ने वालों पर कार्रवाई भी नहीं

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ प्रशासन की मॉनिटरिंग और सख्ती कम होती जा रही है। हालात ये है कि सरकारी-निजी दफ्तर, बाजार और सार्वजनिक स्थानों पर माॅनिटरिंग नहीं हो रही है और कोविड नियमों को तोड़ने वालों पर कोई कार्रवाई। यही नहीं कोराेना की रोकथाम के लिए बनी कोविड टास्क फोर्स की बैठक भी चार महीने से नहीं हुई है। इसमें हर इंसीडेंट कमांडर्स से क्षेत्रवाइज रिपोर्ट ली जाती थी। प्रशासनिक ढील का नतीजा ये है कि अनलॉक के दौरान मरीज कई गुना तेजी से बढ़ रहे हैं। भीड़ में काफी लोग मास्क, डिस्टेंस के नियमों का पालन नहीं कर रहे। यही नहीं कारोबारी,बैंक और दफ्तर प्रबंधन भी अपने संस्थानों पर कोविड नियमों का पालन नहीं करा रहे, जिससे संक्रमण ज्यादा तेजी से फैल रहा है।

बढ़ते मरीज बिगड़ते हालातों पर अफसरों की अनदेखी

  • बाजार: अनलॉक के साथ ही शहर के बाजार पुराने पैटर्न पर खुलने लगे हैं। भीड़ के बीच डिस्टेंस बिल्कुल मेंटेन नहीं हो रहा। स्थिति ये है कि इनमें लॉकडाउन से पहले जितनी संख्या बाजारों में हर वक्त रहने लगी है और उसमें अधिकांश लोग बिना मास्क व डिस्टेंस के होते हैं। पिछले महीने प्रशासन ने 6 कोविड स्क्वाड वैन बाजारों में कार्रवाई के लिए शुरू की थी लेकिन अब वे भी बंद हो चुकी हैं।
  • कंटेनमेंट जोन: इंसीडेंट कमांडर्स की टीम को कंटेनमेंट जोन की मॉनिटरिंग के लिए छोड़ा गया है, लेकिन उनकी टीम में सदस्य बहुत कम हो गए हैं। नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग ने अपने स्टाफ को इस टीम से वापस बुला लिया है और पुलिस ने कंटेनमेंट जोन में तैनाती बंद कर दी। पहले कंटेनमेंट जोन में डिवाइडर लगाकर पुलिसकर्मी या दूसरे विभाग के कर्मचारी की ड्यूटी रहती थी।
  • बैठक: मार्च से ही शहर में इंसीडेंट कमांडर्स की तैनाती के बाद कलेक्टर व स्मार्ट सिटी सीईओ द्वारा कंट्रोल कमांड सेंटर में रोज शाम को जिले के सारे कमांडर्स की बैठक ली जाती थी। जिसमें कार्रवाई, गतिविधि और आगे की प्लानिंग हुआ करती थी। लेकिन ये बैठक मई से बंद हो चुकी है। वहीं बैंक प्रबंधन और व्यापारियों की भी बैठक दो महीने से नहीं हुई।

टीम काम कर रही है
कंटेनमेंट जोन की मॉनिटरिंग और मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग के लिए इंसीडेंट कमांडर्स की टीम लगातार काम कर रही है। हर इंसीडेंट कमांडर्स से क्षेत्र की स्थिति ऑनलाइन व ग्रुपों में मैसेजिंग के जरिए मिलता रहता है इसलिए रोजाना की बैठक नहीं हो रही। जहां जरुरत महसूस होगी, वहां सख्ती भी कर दी जाएगी।
- कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें