समलैंगिक से तंग आकर सुसाइड करने वाले युवक का नोट:ग्वालियर में लिखा- गलत काम के लिए बुलाता था; वो छोटा जरूर था, लेकिन गंदा...

ग्वालियर4 महीने पहले

ग्वालियर में 5 साल छोटे समलैंगिक दोस्त से परेशान होकर 20 साल के युवक ने बुधवार को फांसी लगा ली। वह मेकअप आर्टिस्ट था। उसने 4 पेज का सुसाइड नोट छोड़ा है। युवक ने 15 साल के लड़के के लिए लिखा है- उसे सबक सिखा दिया है, बदला लेने के बाद अब मैं भी जा रहा हूं...। मंगलवार से 15 साल का ये लड़का भी लापता था। पुलिस को एक गड्‌ढे से उसकी साइकिल मिली थी। गुरुवार को उसका शव जेसी मिल की टनल में मिला है।

पढ़िए, सुसाइड में और क्या लिखा है...

मम्मी, पापा सब मुझे ही गलत समझते थे। मैं जीना तो चाहता था, लेकिन जब तक वह जिंदा है, मैं जी नहीं सकता। वो चार साल से मेरे साथ गलत काम कर रहा है। मेरा दर्द मैं ही जानता हूं। इसके बाद भी सब मुझे ही गलत समझते थे, क्योंकि वो छोटा था। सभी ने मुझे गलत समझा, लेकिन मैं गलत नहीं था। वो मुझे ब्लैकमेल करता था। कहता था- तू मेरे पास नहीं आएगा, तो सबको बता दूंगा। जेल भिजवाने की धमकी देता था। इसलिए मैं मर रहा हूं, लेकिन उससे पहले उसे सबक सिखा दिया है। बदला लेने के बाद अब मैं भी जा रहा हूं।

वो छोटा जरूर था। सब उसे सीधा समझते थे, लेकिन उसने मुझे बहुत दर्द दिए हैं। सेक्स करने के लिए कभी भी बुला लेता था। मुझे शारीरिक यातनाएं देता था। ब्लैकमेल करता था। उसके पास जो महंगी साइकिल है, वो मैंने ही उसे दिलाई थी। इसके लिए मैंने घर पर चोरी की। मम्मी, पापा मुझे माफ कर देना, उसकी वजह से मैंने यह गलत कदम उठाया, लेकिन मुझे किसी ने समझा नहीं।

चार साल तक उसने मुझे ब्लैकमेल कर 3 लाख रुपए अपने ऊपर खर्च कराए हैं। पापा, आपने मेहनत से पैसे जोड़कर जो महंगा मोबाइल मुझे दिलाया था, वो उसके ही पास है। उसके घर से वो मोबाइल मेरे पापा को दिला देना। अभी तक जो मैंने उसे दिया है, वो सब वापस ले लेना।

मम्मी, पापा मुझे आपकी बहुत याद आएगी, लेकिन उसके रहते मैं जिंदा नहीं रह सकता, इसलिए मैंने बदला ले लिया है। अब मैं मरने जा रहा हूं। मेरी मौत के बाद कोई दुखी मत होना। अच्छे से रहना। मेरे किसी भी उठाए कदम के लिए मेरे घरवालों को परेशान न किया जाए। मेरा जो पूरा सामान है, उनको वापस करा दिया जाए। पापा, आपने मेरे लिए बहुत कुछ किया। मुझे पढ़ाया। मैंने भी बहुत पढ़ाई की। मेहनत से पार्लर का कोर्स सीखा, पर सब बेकार हो गया।

वो छोटा जरूर था, लेकिन बहुत गंदा था। उसे स्मार्ट वॉच, मोबाइल, ब्लूटूथ, हेड फोन और दूसरे सामान मैंने दिलाए। मम्मी, पापा, बहन व मामा आपको कभी गलत बोल गया हूं, तो माफ कर देना। वंदना मैम आप बहुत अच्छी हो। नूरी दीदी अब तक आप समझ गई होंगी कि मैं क्यों परेशान था। आप सब लोग बहुत अच्छे हैं। आपने मेरी बहुत मदद की है। अब मैं जा रहा हूं। मैंने अपना बदला पूरा कर लिया है...।

जिसका सुसाइड नोट में जिक्र, उसका भी शव मिला
मृतक जिस छात्र का सुसाइड नोट में बार-बार जिक्र कर बदला लेने की बात कह रहा है, वह भी लापता था। उसके घर पहुंचकर जब पुलिस ने उसका मोबाइल तलाशा, तो उसमें आखिरी मैसेज नानी के मोबाइल पर मिला है- वह जेसी मिल के खंडहर की तरफ जा रहा है। इसके बाद पुलिस वहां पहुंची, तो उसकी साइकिल गहरे गड्‌ढे में मिली। पुलिस को उसकी हत्या होने की आशंका थी। गुरुवार को जेसी मिल के टनल में उसका शव भी पुलिस ने बरामद कर लिया। पुलिस ने शव पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया। मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एसएसपी अमित सांघी का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा। पढ़ें पूरी खबर

15 साल का लड़का मंगलवार रात से ही लापता था। पुलिस को उसकी साइकिल जेसी मिल के कुएं में मिली थी। गुरुवार काे उसका शव जेसी मिल की टनल में पुलिस ने बरामद कर लिया।
15 साल का लड़का मंगलवार रात से ही लापता था। पुलिस को उसकी साइकिल जेसी मिल के कुएं में मिली थी। गुरुवार काे उसका शव जेसी मिल की टनल में पुलिस ने बरामद कर लिया।

ये भी पढ़ें...

ग्वालियर में 20 साल के छात्र ने फांसी लगा ली। उसने सुसाइड नोट भी छोड़ा है। इसमें 15 साल के लड़के को समलैंगिक बताते हुए उसके शोषण से परेशान होकर जान देने का जिक्र है। सुसाइड नोट में मां के लिए लिखा- अगला जन्म लेकर आपसे मिलूंगा। पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें...

युवक मंगलवार रात कोचिंग से लौटा और अपने कमरे में चला गया। परिजन को लगा कि वह थका हुआ है। देर रात जब मां उसे देखने पहुंची तो उसका शव पंखे से फांसी के फंदे पर मिला।
युवक मंगलवार रात कोचिंग से लौटा और अपने कमरे में चला गया। परिजन को लगा कि वह थका हुआ है। देर रात जब मां उसे देखने पहुंची तो उसका शव पंखे से फांसी के फंदे पर मिला।
खबरें और भी हैं...