• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • There Will Be More Than Two And A Half Thousand Marriages, The Business Of The Wedding Planner Has Increased, The Marriage Garden Is Also Full

15 नवंबर से 13 दिसंबर तक 16 विवाह मुहूर्त:ढाई हजार से ज्यादा शादियां होंगी, वेडिंग प्लानर का कारोबार बढ़ा, मैरिज गार्डन भी फुल

ग्वालियर20 दिन पहलेलेखक: प्रदीप बौहरे
  • कॉपी लिंक

देव प्रबोधनी एकादशी पर्व 14 एवं 15 नवंबर को मनाया जाएगा। शास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु के जागरण के बाद विवाह जैसे मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं। इस वर्ष देव प्रबोधनी एकादशी से 10 जुलाई 2022 देव शयनी एकादशी तक विवाह मुहूर्त रहेंगे। हालांकि बीच में दो बार विवाह मुहूर्त पर रोक भी लगेगी। 15 दिसंबर से 14 जनवरी तक मलमास के कारण और इसके बाद 22 फरवरी से 14 अप्रैल तक गुरु अस्त होने, होलाष्टक और मलमास होने के कारण विवाह मुहूर्त नहीं होंगे।

इस साल नवंबर और दिसंबर में 16 विवाह मुहूर्त रहेंगे। कोरोना संक्रमण के बाद हालात इस बार सामान्य है, इसलिए दो माह के 16 मुहूर्तों में ज्यादा विवाह होंगे। वेडिंग प्लानर, मैरिज गार्डन, केटरिंग सर्विस और पांडित्य कार्य करने वालों से मिले फीडबैक के अनुसार इन 16 मुहूर्तों में ढाई हजार से ज्यादा विवाह शहर में होंगे। वेडिंग प्लानर का कहना है कि कोरोना संक्रमण के कारण पिछले दो सहालग में 20 फीसदी तक उनका कारोबार रह गया था। अब उसमें 50 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हुआ है। मैरिज गार्डन और केटरिंग सर्विस भी शादी की बुकिंग से खुश हैं। कहते हैं सब कुछ ठीक रहा तो पिछले सहालग के नुकसान की भरपाई हो जाएगी।

15 दिसंबर से 14 जनवरी, 22 फरवरी से 23 मार्च तक विवाह मुहूर्त नही

विवाह मुहूर्त: नवंबर से 13 दिसंबर तक 16 विवाह मुहूर्त हैं। ज्योतिषाचार्य विजय भूषण वेदार्थी के अनुसार 14 जनवरी तक मलमास होने से विवाह नहीं होंगे। 6 जनवरी और फरवरी में 8 विवाह मुहूर्त रहेंगे। 22 फरवरी से 14 अप्रैल तक गुरु अस्त होने, होलिकाष्टक और मलमास होने के कारण 14 अप्रैल तक विवाह मुहूर्त नहीं हाेंगे। अप्रैल से जुलाई तक विवाह मुहूर्त रहेंगे।

वेडिंग प्लानर व डेस्टिनेशन वेडिंग कराने वालों का काम बढ़ गया
वैक्सीनेशन के बाद कोरोना का खतरा लोग कम मान रहे हैं। इसलिए शादी समारोह में कोई कोताही नहीं बरत रहे हैं। शादी समारोहों को भव्य बनाने के लिए वेडिंग प्लानर की मदद ली जा रही है इसके अलावा डेस्टिनेशन वेडिंग भी प्लान की गई हैं।

वेडिंग प्लानर नवीन गुप्ता कहते हैं कि पिछले दो सहालग में कोरोना संक्रमण के कारण उनका व्यवसाय 10 से 20 फीसदी तक रह गया था, इस बार 50 से 70 फीसदी तक काम बढ़ा है। वह शहर में वेडिंग प्लान करने के साथ ही खजुराहो, आगरा, भरतपुर और ओरछा में डेस्टिनेशन वेडिंग भी प्लान कर रहे हैं। वहीं वेडिंग प्लानर गिरीश शर्मा का कहना है कि पिछले सहालग की अपेक्षा 50 फीसदी तक कारोबार में वृद्धि हुई है।

खबरें और भी हैं...