पुलिस के हत्थे चढ़ा चोर गिरोह:10 दिन पहले जेल से छूटकर आए थे, जुआ खेलने का शौक पूरा करने करते थे वारदात

ग्वालियर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हजीरा पुलिस द्वारा पकड़े गए चोर गिरोह से बरामद माल। 10 दिनों में आरोपियों ने 5 चोरियां की हैं। - Dainik Bhaskar
हजीरा पुलिस द्वारा पकड़े गए चोर गिरोह से बरामद माल। 10 दिनों में आरोपियों ने 5 चोरियां की हैं।
  • डबरा, मुरार, जनकगंज, कंपू व हजीरा की चोरियों का हुआ खुलासा

पुलिस के हत्थे चार सदस्यीय चोर गिरोह चढ़ा है। पता लगा है कि यह 10 दिन पहले ही जेल से छूटकर आए हैं। इसके बाद गिरोह ने डबरा, मुरार, जनकगंज, कंपू व हजीरा में चोरी की पांच वारदातों को अंजाम दिया। चोरी की बाइक से लेकर गहने तक बरामद किए गए हैं। क्षेत्र की अन्य चोरियों के संबंध में पूछताछ की जा रही है।

पकड़े गए चोर गिरोह के चार सदस्य, बेहद शातिर हैं।
पकड़े गए चोर गिरोह के चार सदस्य, बेहद शातिर हैं।

हजीरा थाना प्रभारी आलोक परिहार ने बताया, गश्त के दौरान सूचना मिली थी कि जैन मंदिर के पास खंडहर में कुछ संदेही लोग खड़े हैं। इस पर एसआई नरेन्द्र चिकारा, प्रधान आरक्षक शैलेन्द्र सिंह, आरक्षक जनक, श्रीकृष्ण, हेमंत, राहुल को कार्रवाई के लिए पहुंचाया। पुलिस मौके पर पहुंची, तो चार युवक दिखाई दिए, जो पुलिस को देखते ही भागने लगे। पुलिस जवानों ने भी पीछा उन्हें पकड़ लिया।

युवकों ने अपने नाम गोलू राठौर, उर्फ माता प्रसाद पुत्र राजेन्द्र राठौर गदाईपुरा, मंजीत जाटव पुत्र फन सिंह जाटव निवासी संजय नगर, रवि पटेल पुत्र हरिमोहन पटेल निवासी गिर्राज मंदिर के पीछे चार शहर का नाका और रोहित उर्फ चमना उर्फ दलबीर जाटव पुत्र संतराम जाटव निवासी गदाईपुरा बताए। पूछताछ के दौरान पहले तो वो पुलिस से डरकर भागने की बात कहते रहे, लेकिन बाद में चोरियां करने की बात कुबूली। उन्होंने बताया कि गोला का मंदिर, कंपू, हजीरा समेत वह पांच चोरियां कर चुके हैं। पुलिस ने गिरोह से बाइक, साइकिल, दो सिलेंडर व गहने बरामद किए हैं। पुलिस उनसे पूछताछ करने में जुट गई है। यह भी पता लगा है कि यह पिछले 3 महीने से जेल में थे। अभी हाल ही में 10 दिन पहले ही छूट कर आए हैं।

जुआ खेलने का है शौक

पकड़े गए गिरोह के सदस्यों ने बताया कि वह चोरी की वारदात के बाद जो भी पैसे मिलते थे। उनसे जुआ खेलते थे। उनको जुआ खेलने का शौक है। साथ ही महंगे कपड़े, ब्रांडेड जूते में वह चोरी में कमाया माल उड़ाते थे।