• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Those Who Were In The Hospital And Datia, How Can They Come To Girgaum And Open Fire, After The FIR Of The Firing, The CCTV Footage Given To The Police Stating That They Were Innocent

मामला गिरगांव में गोलीबारी का...:जो हॉस्पिटल और दतिया में थे, वो गिरगांव में आकर गोलियां कैसे चला सकते हैं, पुलिस को दिए CCTV फुटेज

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुरार के केडी हॉस्पिटल की CCTV फुटेज। - Dainik Bhaskar
मुरार के केडी हॉस्पिटल की CCTV फुटेज।

दो दिन पहले गिरगांव में हुए गोलीकांड में नया मोड़ आ गया है। घायल जितेन्द्र की शिकायत पर एक दर्जन से ज्यादा लोगों पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था। इस FIR में श्रीकृष्ण नरवरिया व दीपक लोधी के नाम भी हैं। दोनों ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर खुद को निर्दोष बताया है।

घटना के समय श्रीकृष्ण ने खुद को मुरार के केडी हॉस्पिटल और दीपक ने खुद को दतिया में घर पर होना बताया है। दोनों ने हॉस्पिटल और कॉलोनी के CCTV फुटेज भी पुलिस अफसरों को दिए हैं। साथ ही मामले की निष्पक्ष जांच कर उन पर झूठा आरोप लगाने वालों पर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस अफसरों ने जांच का आश्वासन दिया है।

हत्या के प्रयास में दीपक लोधी का भी नाम है, जबकि घटना के समय वह दतिय में अपने घर पर था। उसकी कॉलोनी में लगे CCTV फुटेज में वह दिख रहा है
हत्या के प्रयास में दीपक लोधी का भी नाम है, जबकि घटना के समय वह दतिय में अपने घर पर था। उसकी कॉलोनी में लगे CCTV फुटेज में वह दिख रहा है

यह हुई थी घटना
- महाराजपुरा के गिरगांव निवासी जितेन्द्र सिंह गुर्जर (32) पुत्र दर्शन सिंह गुर्जर किसान है। मंगलवार सुबह वह घर से ट्रैक्टर लेकर खेत के लिए निकला था। अभी वह खेत पर पहुंचा ही था कि तभी अचानक 10 से 12 के लगभग हमलावरों ने उसे चारों तरफ से घेरकर फायरिंग कर दी। फायरिंग का पता चलते ही अन्य परिजन वहां पर पहुंचे तो हमलावरों ने उन पर भी फायरिंग की। इधर गोली लगने से जितेन्द्र ट्रैक्टर से जमीन पर आ गिरा। दूसरी तरफ से फायरिंग होते देखकर हमलावर वहां से भाग निकले। मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। परिजन ने इलाज के लिए घायल को तत्काल जयारोग्य अस्पताल पहुंचाया है। घायल को गोली छूकर निकली थी। घायल ने हमलावरों में हरेन्द्र लोधी, श्रीकृष्ण नरवरिया, भगवान सिंह लोधी, दीपक लोधी, रामलाल लोधी, टीकाराम लोधी, हरगोविन्द लोधी, अजब सिंह, राजकुमार व तीन अन्य के नाम बताए है। जिस पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है।
जिन पर FIR वो बोले- राजीनामा का दबाव बनाने किया झूठा हमला
- इस मामले में जिन लोगों पर हत्या का मामला दर्ज हुआ है उनमें श्रीकृष्ण नरवरिया ने आवेदन के जरिए पुलिस अफसरों को बताया है कि घटना के समय वह मुरार के कल्याण मैमोरियल हॉस्पिटल में था। उसका बेटा भर्ती था। उसने अपने साथ वहां हॉस्पिटल के CCTV फुटेज भी सबूत के तौर पर दिए हैं। श्रीकृष्ण ने यह भी बताया कि एक साल पहले 13 मई 2020 को उसके चाचा सिकंदर नरवरिया की हत्या जितेन्द्र और उनके घर वालों ने की थी। उस समय उसकी शिकयत पर 9 लोगों पर मामला दर्ज हुआ था।

6 लोग अभी तक फरार हैं। इस मामले में उस पर राजीनामा करने दबाव डाला जा रहा है। इसी वजह से यह साजिश रचि गई है। इसी तरह एक अन्य आरोपी दीपक लोधी ने भी आवेदन के माध्यम से बताया है कि वह घटना के समय दतिया में अपने घर पर था। 6 महीने से दतिया में रह रहा है। उसने कॉलोनी में अपने बीवी बच्चों के साथ के CCTV फुटेज भी पुलिस अफसरों को पेश किए हैं।

खबरें और भी हैं...