• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Three Parts Of Chemistry Come From Physical, Inorganic And Organic Questions, Understand Instead Of Memorizing Simple Funds, You Will Get A Good Score.

JEE मेन में केमिस्ट्री रैंक बनाने वाला सब्जेक्ट...:केमिस्ट्री के फिजिकल, इनऑर्गेनिक और ऑर्गेनिक पार्ट से बराबर आते हैं सवाल, पढ़िए तैयारी के तरीके

मध्यप्रदेश9 महीने पहले

JEE मेन में सबसे महत्वपूर्ण है आपकी रैंक है। यही रैंक आपके कॉलेज और ब्रांच डिसाइड करती है। केमिस्ट्री को JEE के अंदर एक स्कोरिंग सब्जेक्ट माना जाता है। कम समय और पढ़ाई में ज्यादा अच्छे नंबर लाकर रैंक बनाई जा सकती है। केमिस्ट्री के तीन भाग हैं। फिजिकल, इनऑर्गेनिक और ऑर्गेनिक तीन साल पहले फिजिकल और ऑर्गेनिक के प्रश्न ज्यादा आते थे। इनऑर्गेनिक के प्रश्न कम होते थे।

अब स्थिति बदल गई है। अब तीनों के लगभग बराबर प्रश्न आते हैं। फिजिकल केमिस्ट्री में न्यूमेरिकल ज्यादा आते हैं। यहां रटने की जगह फार्मूलों को समझना होगा। तीनों पार्ट में एक सामान ध्यान देना होगा। इसके बाद सक्सेस आपके पास होगी। चलिए जानते हैं हमारे एक्सपर्ट डॉ. एएम श्रीवास्तव (एचओडी केमिस्ट्री रेजोनेंस क्लासेस ग्वालियर ब्रांच) से...

एक्सपर्ट क्लास में छात्रों को समझाते हुए
एक्सपर्ट क्लास में छात्रों को समझाते हुए

तीनों पार्ट पर बराबर ध्यान दें
- सबसे पहले आपको जरूरी है कि केमिस्ट्री के तीनों पार्ट; ऑर्गेनिक, इनॉर्गेनिक और फिजिकल केमिस्ट्री पर बराबर समय दें। किसी एक पार्ट को ज्यादा समय देने के चक्कर में बाकी को इग्नोर ना करें। साथ ही इसके लिए उपयोगी स्टडी मटेरियल को खुद की समझदारी से चुनें। साथ ही अपने स्तर पर शॉर्ट्स नोट बनाएं। जिससे आपको समझने में आसानी होगी। क्योंकि फिजिकल पार्ट न्यूमेरिकल बेस्ड होता है। ऐसे में फार्मूलों को रटने की जगह समझें और लॉजिक लगाएं। कई बार एक फार्मूला कई जगह काम आ जाता है।
फॉर्मूलों को रटने की जगह समझें
-जैसा की आप जानते हैं JEE मेन के तीनों विषय गणित, फिजिक्स और केमिस्ट्री फॉर्मूला बेस्ड हैं। इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है फॉर्मूलों को याद रखना। फॉर्मूलों को याद रखने के साथ - साथ सवालों को सॉल्व करने की स्पीड में भी सुधार करें। इसके लिए आप अपनी क्षमताओं को समझें और उसके आधार पर ही पढ़ाई करें।
सक्सेस का मूल मंत्र पीरियॉडिक टेबल
- केमिस्ट्री का आधार माना जाता है पीरियॉडिक टेबल। यदि केमिस्ट्री में चैंपियन बनना है तो इसे बिल्कुल अच्छे से याद कर लें। साथ ही इसको अपने आस पास कहीं चिपका दें। ताकि हर वक़्त नज़र उसपर पड़ती रहे। यह आपको याद रहेगा तो आपको अच्छा स्कोर करने और सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।
इन तत्वों पर भी विशेष नजर बनाए रखें
- मेकेनिज़्म, केमिस्ट्री से जनरल प्रॉपर्टीज, स्ट्रक्चर ऑफ एटम, एक्विलिब्रियम इलेक्ट्रो केमिस्ट्री, केमिकल काइनेटिक्स, जनरल आर्गेनिक केमिस्ट्री पर ज्यादा ध्यान दे। इनसे लगातार सवाल आते हैं और ज्यादा संख्या में आते हैं।
खुद के नोट्स बनाएं
-केमिस्ट्री सेक्शन की अच्छे से तैयारी करनी है तो नोट्स जरूर बनाएं। नोट्स बनाने से आप परीक्षा से पहले रिवीजन कर सकते हैं। साथ ही यह भी आकलन कर सकते हैं कि आप किस टॉपिक पर कितना तैयार हैं। इसके लिए आपको लगातार रिवीजन क रते रहना होगा।
ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें
- JEE की तैयारी में केमिस्ट्री विषय पर जितना ज्यादा प्रैक्टिस करेंगे उतना ही अच्छा नंबर स्कोर कर पाएंगे। इसके लिए कम से कम 3 से 5 घंटे का समय आपको प्रैक्टिस के लिए देना होगा। इसमें आप पुराने प्रश्नपत्रों को सॉल्व कर सकते हैं। यदि आप 20 प्रश्नपत्र सॉल्व कर लेते हैं तो आपको कोई रोक ही नहीं सकता। पुराने पेपर सॉल्व करने से आपको सवालों के पैटर्न के बारे में जानकारी हो जाती है।
मॉक टेस्ट लें
- JEE की तैयारी के दौरान कुछ और भी काम हैं जो करना जरूरी होता है। आप तैयारी के वक़्त खुद को जांचते रहें। बीच बीच में आप खुद से खुद को एग्जामिन करें। इसके लिए कठिन प्रश्नों का मॉक टेस्ट लें। इससे आप खुद को बाकी उम्मीदवारों से अलग पाएंगे।
थियोरेटिकल प्रश्नों को प्राथमिकता दें
- परीक्षा में अक्सर यह असमंजस हो जाता है कि पहले कौन से प्रश्न करें। इसके लिए सबसे सही तरीका है कि पहले थियोरेटिकल प्रश्नों को कर लें उसके बाद ही न्यूमेरिकल प्रश्नों को सॉल्व करें। इससे समय की बचत और प्रश्न आसान लगने लगेंगे।

खबरें और भी हैं...