पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • TI, Patwari, Businessman's Facebook Messenger ID Hacked And Attempted To Cheat Friends And Relatives

आपदा में मदद के नाम पर ठगी:TI, पटवारी, व्यवसायी की फेसबुक मैसेंजर ID हैक कर दोस्तों, रिश्तेदारों को ठगने का प्रयास

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह किए मैसेज - Dainik Bhaskar
इस तरह किए मैसेज
  • कहीं दोस्त की बेटी छत से गिरने पर मांगी मदद तो कहीं दोस्त का बेटे के लिए
  • कोविड में इस तरह के ठगी के मामले बढ़ गए हैं, भावनाओं में बहकर न करें ट्रांजेक्शन

कोविड जैसे आपदा में भी ऑनलाइन ठगी करने वाले बाज नहीं आ रहे हैं। हाल ही में शहर में एक TI, पटवारी संघ के अध्यक्ष और व्यापारी की फेसबुक मैसेंजर ID हैक कर उनके ही दोस्तों और रिश्तेदारों को मैसेज कर आर्थिक मदद मांगी है। कहीं दोस्त की बेटी छत से गिर जाने पर मदद का बहाना किया है तो कहीं दोस्त के बेटे को कोविड हो जाने की बात कहकर अर्जेंट में मदद मांगी गई है। जब दोस्तों, रिश्तेदारों ने इन अफसरों को फोन कर बात की तो ID हैक होने का पता लगा। इसके बाद इन्होंने अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर सावधान रहने का अलर्ट जारी किया है।

पटवारी संघ के अध्यक्ष की फेक ID बनाई

  • ज्ञान सिंह राजपूत पटवारी हैं। इस समय वह पटवारी संघ के अध्यक्ष भी हैं। शनिवार को किसी ने उनके फेसबुक मैसेंजर ID को हैक कर लिया। इसके बाद क्लोन ID बनाई। इसमें वही फोटो व कंटेंट लगाया जो उनकी ID पर था। इसके बाद वह उनके रिश्तेदारों व दोस्तों को मैसेज करने लगे। कई लोगों को उन्होंने मैसेज कर मदद मांगी है। कहा है कि अचानक दोस्त की बेटी के छत से गिरने पर कुछ रुपयों की जरूरत बताई। जिसे मैसेज किया गया। उसने समझदारी दिखाई और कहा कि खुद आकर ले जाओ या किसी को भेज दो। इस पर पटवारी की फेक ID से ठग बार-बार ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की कहता रहा। मामले का पता उस समय लगा जब दोस्त व रिश्तेदारों के उनके पास फोन पहुंचे।

इंस्पेक्टर की ID हैक कर मांगी मदद

  • अभी एक दिन पहले की बात है इंस्पेक्टर रविन्द्र सिंह गुर्जर की फेसबुक मैसेंजर अकाउंट किसी ने हैक कर क्लोन ID बनाकर उनके दोस्त, रिश्तेदारों को मैसेज कर मदद के बहाने रुपयों की मांग शुरू कर दी। जब दोस्तों और रिश्तेदारों ने उनको कॉल कर खैरियत पूछी तो उन्हें इस घटना का पता लगा। रविन्द्र अभी दतिया जिले में पदस्थ हैं। लम्बे समय तक ग्वालियर में कई बड़े थानों में पदस्थ रहे हैं। जब ID हैक होने का पता लगा तो उन्होंने तत्काल अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ही अलर्ट जारी किया। जिसमें लिखा कि उनकी ID किसी ने हैक कर ली है। रुपए मांगे तो मत देना।

व्यापारी के नाम से मांगे रुपए

  • मुरार के सराफा व्यवसायी अमित कुमार का इसी तरह फेसबुक मैसेंजर अकाउंट को हैक कर बिल्कुल वैसा ही अकाउंट बनाया। इसके बाद उनके सभी रिश्तेदारों और दोस्तों को मैसेज भेजा गया। जिसमें बताया कि उनका दोस्त का 18 साल का बेटा कोविड संक्रमित हो गया है। अर्जेंट में रुपए की जरूरत है शाम तक लौटा देगा। इसके बाद एक दोस्त ने कहा कि वह खुद आ रहा है कहां आना है। उसने कहा आप रुपए ट्रांजेक्शन कर दो फिर आ जाना। पर दोस्त समझ गया। उसने अमित को कॉल किया तो हकीकत पता लगी। इसके बाद उन्होंने अपनी ID से सभी को मैसेज किया कि वह पूरी तरह सुरक्षित हैं। मेरे नाम से कोई मैसेज कर रुपए मांग रहा है, आप सावधान रहें।

सायबर सेल ने किया था अलर्ट

  • अभी कुछ ही दिन पहले स्टेट राज्य सायबर सेल पुलिस ने अलर्ट जारी किया था। कोविड में मेडिकल उपकरण बेचने या खरीदने के नाम पर या फिर बीमारी के नाम पर कोई रुपए मांगे तो बिल्कुल भी ट्रांजेक्शन न करें। किसी भी अनजान नंबर पर विश्वास नहीं करें। किसी भी नंबर या अकाउंट का वैरीफिकेशन करने के बाद ही ट्रांजेक्शन करें।
खबरें और भी हैं...