पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • To Avoid Miscreants, Youth Entered Into Neighbor's House, Murdered By Shooting Bullets, Gunman Has Fought Election Of Councilor

रंगदारी को लेकर हत्या:बदमाशों से बचने पड़ोसी के घर में घुसा युवक, ताबड़तोड़ गोलियां मार कर दी हत्या, गोलियां चलाने वाला लड़ चुका है पार्षद का चुनाव

ग्वालियर3 महीने पहले
मृतक संदीप जाटव, इसकी बदमाशों ने रंगदारी का लेकर गोलियां मारकर हत्या कर दी, दो गोली पीठ में लगी हैं
  • नदीपार टाल के अशोक कॉलोनी की घटना
  • सड़क पर तड़पते हुए तोड़ा युवक ने दम

एक युवक की दो बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां मारकर हत्या कर दी। बदमाशों से बचने के लिए युवक भागता हुआ पड़ोसी के घर में घुसा, लेकिन बदमाशों ने गोलियां चलाना बंद नहीं किया। बदमाशों के भागने के बाद पड़ोसी ने घायल युवक को अस्पताल ले जाने के बदले सड़क पर डाल दिया, जहां उसने तड़पते हुए दम तोड़ दिया। घटना मंगलवार रात 10 बजे अशोक कॉलोनी नदीपार टाल थाटीपुर की है। हत्या करने वालों में पिता-पुत्र सहित 3 से 4 लोगों के नाम आ रहे हैं। हत्या का कारण इलाके में रंगदारी है। हत्या आरोपी वार्ड-20 से पार्षद प्रत्याशी भी रह चुका है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को निगरानी में डेड हाउस में रखवा दिया है।

घर में छुपे संदीप पर बाहर खड़े बदमाश गोलियां चलाते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हैं
घर में छुपे संदीप पर बाहर खड़े बदमाश गोलियां चलाते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हैं

थाटीपुर थानाक्षेत्र स्थित अशोक कॉलोनी निवासी 23 वर्षीय संदीप जाटव पुत्र भूमिजीत सिंह जाटव की इलाके में रंगदारी चलती थी। कुछ महीनों से वह इलाके में ही रहने वाले लोको गुर्जर के साथ रहता था। संदीप का साथ मिलने से लोकों की रंगदारी क्षेत्र में बढ़ गई थी। यह बात अशोक कॉलोनी निवासी राकेश जखोदिया और उसके बेटे विक्की जखोदिया को अच्छी नहीं लगती थी। राकेश पिछले नगरीय निकाय चुनाव में इसी क्षेत्र में वार्ड-20 से कांग्रेस से पार्षद प्रत्याशी रह चुका है, लेकिन वह चुनाव हार गया था। इस बार भी वह चुनाव की तैयारी कर रहा था। उसको संदीप का लोको गुर्जर के साथ रहना पसंद नहीं था। लोको से उनकी रंजिश चल रही थी। कुछ दिन पहले उन्होंने संदीप को चेतावनी भी दी थी, लेकिन संदीप ने उन्हें उल्टा धमका दिया था।

घेरकर किया हमला, बचने पड़ोसी के घर में घुसा

मंगलवार रात को संदीप पैदल-पैदल अपने मोहल्ले की तरफ जा रहा था। तभी रास्ते में राकेश जखौदिया और उसका बेटा विक्की जखौदिया और विक्की पंडित व अन्य ने उसे घेर लिया। बदमाशों के हाथों में पिस्टल व कट्‌टे थे। विरोधियों के मंसूबे देखकर संदीप बचने के लिए भागा और मोहल्ले के एक घर में घुस गया। पर बदमाश उसका पीछा करते हुए वहां पहुंच गए और ताबड़तोड़ गोलियां चलाते रहे। बदमाशों ने जब देख लिया कि संदीप बुरी तरह घायल हो गया है तो वह भाग गए।

पड़ोसी ने जब उसे अपने घर से निकालकर बाहर फेंक दिया तो वह तड़प रहा था, यहीं पड़े-पड़े हो गई मौत
पड़ोसी ने जब उसे अपने घर से निकालकर बाहर फेंक दिया तो वह तड़प रहा था, यहीं पड़े-पड़े हो गई मौत

सड़क पर तड़पते हुए तोड़ा दम, कोई मदद के लिए नहीं आया

बदमाशों के भागने के बाद जिस घर में संदीप जान बचाने घुसा था वह उसे घसीटकर लाए और बाहर सड़क पर छोड़ गए। जिस समय उसे बाहर लेकर आए वह तड़प रहा था। समय पर उसे अस्पताल ले जाया जाता तो वह बच सकता था, लेकिन पूरे मोहल्ले में कोई उसकी मदद के लिए नहीं आया। करीब 7 से 8 मिनट वह सड़क पर ही तड़पता रहा और दम तोड़ दिया। गोलीबारी की सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची, लेकिन तब तक संदीप की मौत हो चुकी थी। अभी पुलिस ने शव को डेड हाउस पहुंचाकर हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

CCTV में कैद हुई घटना, मासूम बच्चों की बची जान

पूरी घटना पास ही लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। संदीप बचने के लिए भागता हुआ आ रहा है। पीछे दो युवक आ आए है। एक टोपी लगाए है। दोनों ताबड़तोड़ गोलियां चला रहे हैं। एक बार वह जाते हैं और गन लोड कर फिर आकर गोलियां चलाते हैं। जिस समय वह गोलियां चला रहे थे पास ही तीन से चार बच्चे खेल रहे थे। गोली की आवाज सुनकर बच्चे भागे, नहीं भागते तो उनमें से किसी की जान जा सकती थी। हत्या के बाद से वहां तनाव है।