सुबह 6 मिमी बरसे बादल, 2.30 लुढ़का दिन का पारा:आज बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी राजस्थान के ऊपर बना हुआ है चक्रवातीय घेरा

ग्वालियर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तिघरा बांध - Dainik Bhaskar
तिघरा बांध

बंगाल की खाड़ी से अंचल की ओर नमी आ रही है। साथ ही पश्चिमी राजस्थान के ऊपर चक्रवातीय घेरा बना हुआ है, जिस कारण बुधवार को शहर में सुबह के हल्की बारिश हुई। इस दौरान 6 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। हालांकि बारिश के बाद अधिकतम तापमान में 2.3 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

हालांकि दोपहर में चटक धूप भी निकली, जिससे लोगों ने उमस का अहसास किया। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग में गरज-चमक के साथ बौछार पड़ सकती है। मानसून सीजन में अब तक 665.7 मिमी बारिश हो चुकी है। पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 2.3 डिग्री बढ़त के साथ 32.7 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 1.3 डिग्री कम रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 23.4 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 0.5 डिग्री कम रहा। सुबह की आर्द्रता 96 फीसदी रही। यह सामान्य से 21 फीसदी अधिक रही। जबकि शाम की आर्द्रता 76 फीसदी रही।

ग्वालियर-चंबल संभाग में आज बौछार पड़ने की संभावना है
उत्तरी छत्तीसगढ़ व झारखंड के ऊपर निम्न दाब क्षेत्र चक्रवातीय घेरे के रूप में सक्रिय है। इसके साथ ही पश्चिमी राजस्थान के ऊपर चक्रवातीय घेरा अभी भी सक्रिय है। मानसून ट्रफ जैसलमेर, जोधपुर, गुना, दमोह और अंबिकापुर से होते हुए निम्न दाब क्षेत्र से लेकर पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान के आसपास एक ट्रफ के रूप में सक्रिय है। इसके साथ ही 24 और 25 सितंबर को एक और निम्न दाब क्षेत्र विकसित होने की संभावना है। यह 26 और 27 सितंबर तक ओडिशा तट तक पहुंच सकता है। अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग में गरज-चमक के साथ बौछार पड़ने की संभावना है।
-वेद प्रकाश सिंह, वरिष्ठ माैसम वैज्ञानिक

तिघरा जलाशय का लेवल 734.20 पर पहुंचा
तिघरा बांध का लेवल बुधवार को 734.20 फीट पर पहुंच गया। ककैटो और पेहसारी बांध से तिघरा में पानी की शिफ्टिंग 53 दिन से जारी है और अभी ग्रामीणों को खेतों में पलेवा के लिए नहर की माइनर में पानी छोड़ने तक पानी शिफ्ट किया जाता रहेगा। पेहसारी बांध से तिघरा में 24 एमसीएफटी पानी शिफ्ट किया जा रहा है, इसमें से 10 एमसीएफटी से प्रतिदिन तिघरा का लेवल बढ़ रहा है और लगभग 8.50 एमसीएफटी पानी शहर में सप्लाई किया जा रहा है। शिफ्टिंग के दौरान लगभग 5.50 एमसीएफटी पानी का नुकसान हो रहा है।

खबरें और भी हैं...